Tuesday, September 27, 2022
Homeधार्मिक कथाएंVastu Shastra: भूलकर भी ये न करें, वरना धोना पड़ सकता है...

Vastu Shastra: भूलकर भी ये न करें, वरना धोना पड़ सकता है जान से हाथ

Vastu Shastra का ज्ञान होना क्यों है हमारे लिए जरूर?

Vastu Shastra: हिंदु धर्म में वास्तुशास्त्र का एक अलग महत्तव है। कई लोग वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) के मुताबिक ही अपना हर काम करते हैं, वहीं कई लोग ऐसे भी होते हैं जो वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) पर बिलकुल भी यकीन नही करते और आखिर में उनके साथ कुछ ऐसा होता है कि वो सदैव परेशान रहते हैं, यहां तक की इन वास्तु दोषों के कारण उन्हें अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है।

क्या है Vastu Shastra?

Vastu Shastra
Vastu Shastra

वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) घर, मंदिर और किसी भी जगह का निर्माण करने का एक प्राचीन भारतीय विज्ञान है जिसे अगर सही तरीके के किया जाए तो ये आपके जीवन से नकारात्मक उर्जा को बाहर करता है और आपके आसपास हमेशा सकारात्मक ऊर्जा ही बनी रहती है। लेकिन अगर आपने अपने घर का निर्माण वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) के मुताबिक न कराया हो तो ये आपके जीवन में कई परेशानियां भी ला सकता है।  

वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) केवल आपके घर ऑफिस या मंदिर की बनावट पर ही निर्भर नही करता बल्की ये निर्भर करता है आपकी दिनचर्या पर भी। आप कोई भी काम कैसे कर रहे हैं, उस काम को वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) के मुताबिक सही तरीके से किया जा रहा है या नही और हमारी कुछ गलत आदतों से हमारे ऊपर वास्तु दोष (Vastu Shastra) लग सकता है। आज आपको यही बताएंगे कि हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में हम क्या गलतियां करते हैं जिनसे हमारे ऊपर वास्तु दोष का प्रभाव होता है।

बिस्तर पर बैठकर भूलकर भी न खाएं खाना  

बिस्तर पर बैठकर खाना खाना
Source: Social Media

पुराने जमाने में लोग जमीन पर बैठकर खाना खाते थे जबकी अगर आज की बात करें तो बहुत ही कम लोग ऐसे हैं जो जमीन पर बैठकर खाना खाते हैं। इनमें कई लोग ऐसे हैं जो अपने बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं वहीं कई लोग ऐसे हैं जो डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाना खाते हैं। लेकिन इन लोगों को ये मालूम नही होता कि ऐसा करने से उनके ऊपर वास्तु दोष तो लगता ही है साथ ही साथ ये उनके स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होता है।

ये भी पढ़े:  
Urfi Javed on Anjali Arora Urfi Javed on Anjali Arora: ये क्या बोल गईं Urfi, Anjali MMS पर?

शरीर की ऊर्जा का धरती की ऊर्जा से मिलन

दरअसल पुराने जमाने में जब लोग जमीन पर बैठकर खाना खाते थे तो उनके शरीर की ऊर्जा धरती की ऊर्जा से मिलती थी और इस ऊर्जा के मिलने से वे लोग आज के लोगों की तुलना में ज्यादा स्वस्थ्य रहते थे। असल में जब हम खाना खाते हैं तो हमारा लीवर गर्मी छोड़ता है और जब हम जमीन पर बैठकर खाना खाते हैं तो जमीन हमारे लीवर से निकली उस गर्मी को अपने अंदर समा लेती है जिसके कारण लोग आज की तुलना में ज्यादा स्वस्थ्य रहते हैं। वहीं अगर हम बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं तो हमारे शरीर की गर्मी को बाहर निकलने का रस्ता नही मिलता और हमारा शरीर अस्वस्थ्य रहने लगता है।

खाना खाते वक्त पैर क्यों होने चाहिए गीले?

इसके साथ ही खाना खाने से पहले अधिकतर लोग हाथ पैर तो धोते ही हैं और जो लोग ऐसा नही करते उन्हें बता दें कि खाना खाने से पहले हाथ पैर जरूर धोएं। ऐसा कहा जाता है कि यदी गीले पैरों के साथ हम जमीन पर बैठकर खाना खाते हैं तो उससे हमारी उम्र में बढ़ौतरी होती है, कैसे, ये जान लेते हैं। दरअसल जल पंचतत्वों में से एक होता है और जब जल धरती के संपर्क में आता है तो हमारे शरीर में एक नई ऊर्जा उत्पन्न होती है जिससे हमारा शरीर स्वस्थ्य रहता है।

आसपास नकारात्मक ऊर्जा का कैसे होता है वास?

जमीन पर बैठकर खाना खाना
Source: Social Media

ये तो थे वैज्ञानिक कारण अब आपको बताते हैं कि यदि आप बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं तो इससे कैसे आपके घर पर नकारात्मक ऊर्जा का वास होता है। दरअसल जब आप बिस्तर पर बैठकर खाना खाते हैं तो इससे देवी लक्ष्मी आपसे रुष्ट होती है और जब आपसे देवी लक्ष्मी रुष्ट होगी तो आपके घर में बरकत नही होगी और घर में सदैव कलह की स्थिति बनी रहेगी, नकारात्मक ऊर्जा का वास रहेगा। तो अब भूलकर भी बिस्तर पर बैठकर खाना न खाएं और यदी आपको जमीन पर बैठने में परेशानी होती है तो डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाना खाएं।

बाथरूम में इन बातों का रखें खास ख्याल

स्नान करने के बाद कभी भी बाथरूम में अपने गीले कपड़े नही छोड़ने चाहिए। उन्हें साथ के साथ तुंरत धो लेना चाहिए। यदी आप नहाने के बाद बाथरूम में गीले कपड़े छोड़ देते हैं तो उससे आपका सूर्य कमजोर होता है और यदी आपका सूर्य कमजोर होगा तो आपके मान सम्मान में इसका बुरा असर पड़ता है।

बाथरूम को गंदा ना छोड़े

Dirty Bathroom
Source: Social Media

यदी आप स्नान करने के बाद बाथरूम को गंदा ही छोड़ देते हैं तो इसे भी वास्तु दोष (Vastu Shastra) उत्पन्न होता है। ऐसा करने से आपका राहु और केतु बिगड़ता है और साथ ही साथ शनि ग्रह पर भी गलत प्रभाव पड़ता है, जिससे आपके घर से सुख समृद्धी चली जाती है।

टूटे हुए बाल बाथरूम में बिलकुल न छोड़े

बाथरूम में पड़े बाल
source: social Media

स्नान करने के दौरान यदि आपके बाल टूटते है और अगर आप इन बालों को बाथरूम में ही छोड़ देते हैं तो ऐसा करने से शनि देव आपसे रुष्ट होते हैं और इससे आपको आर्थिक तंगी से जूझना पड़ता है। तो जब भी आप बाथरूम में नहाने जाएं तो बिना ये काम किए बाहर बिलकुल न आएं।

किचन में भूलकर भी न करें ऐसा

ऐसा देखा गया है कि किचन में कई लोग रात के खाने के बाद सिंक में झूठे बर्तनों को ऐसे ही छोड़ देते हैं। ऐसा करना लोगों की सबसे बड़ी गलती मानी जाती है क्योंकि यदी रात को आप झूठे बर्तनों को धोए बगैर की सो जाते हैं तो ऐसा करने से शनि देव क्रोधित होते हैं और इससे आपकी ऊपर शनि का बुरा प्रभाव पड़ता है।

गंदे बर्तन
Source: Social Media

जो लेग रात के झूठे बर्तन रसोई घर में बिना धोए ही छोड़ देते हैं उनके घर में सदैव कलह बना रहता है। यदी आप रात के झूठे बर्तन धोकर रखते हैं तो इससे देवी लक्ष्मी आपसे प्रसन्न होती है और सदैव अपनी कृपा आपके ऊपर बनाए रखती है।

ये भी पढ़े:  
Queen Elizabeth II death Queen Elizabeth II death : एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर शोक में डूबा बॉलीवुड, कहा- एक युग का अंत

साफ सुथरे कपड़े पहने

Vastu Shastra के मुताबिक साफ सुथरे कपड़े पहने
Source: social Media

वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) में बताया गया है कि हमें स्नान करने के बाद हमेशा साफ सुथरे कपड़े पहनने चाहिए, इसके साथ ही हमें फटे और गंदे कपड़े बिलकुल नही पहनने चाहिए। ऐसा करने से दरिद्रता आती है। इसके साथ ही हमें सूर्योदय होने पहले उठना चाहिए। जो लोग सूर्योदय होने के बाद तक सोए रहते हैं उनसे देवी लक्ष्मी रुष्ट हो जाती है और उनके पास कभी भी धन नही टिक पाता है।

संध्या काल के समय घर पर झाड़ू क्यों न मारे?

वास्तुशास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार संध्या काल के समय घर पर झाड़ू नही लगाना चाहिए। ऐसा करने से दिन भर आपके घर में मौजूद सकारात्मक ऊर्जा झाड़ू लगाने से बाहर चली जाती है। दरअसल सुबह जब आप अपने घर में साफ सफाई करते हैं तो साफ सफाई के साथ ही घर में सकारात्मक ऊर्जा भी प्रवेश करती है और यदी सूर्य अस्त होने के बाद हम अपने घरों में झाड़ू लगाते हैं तो ऐसा करने से वो सकारात्मक ऊर्जा भी घर से बाहर चली जाती है।

Cleaning House
Source: Social Media

इसके साथ ही वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) में ये भी कहा गया है कि यदि सूर्य अस्त के बाद हम अपने घर में जाड़ू लगाते हैं तो इससे देवी लक्ष्मी रुष्ट होती है जिसके कारण घर में दरिद्रता आती है और साथ ही धन की भी हानि होती है।

तो अब आप लोगों को ये पता लग गया होगा कि क्या करने से आपके जीवन में वास्तु दोष (Vastu Shastra) का प्रवेश होता है और आपके आसपास नकारात्मक ऊर्जा का वास होता जाता है। ये नकारात्मक ऊर्जा कब आप पर हावी हो जाए इसका आपको खुद भी पता नही चलता, जिससे एक वक्त बाद आपकी जान को भी खतरा हो सकता है।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com

RELATED ARTICLES

Most Popular