उत्तराखंड में सियासी हलचल हुई तेज, सीएम के बाद स्पीकर और प्रदेश अध्यक्ष हुए दिल्ली रवाना

Uttarakhand Breaking News

Uttarakhand Breaking News: उत्तराखंड में सियासी हलचल तेज होती जा रही है। पहले मुख्यमंत्री पुष्कर धामी अचानक दिल्ली रवाना हुए और उनके बाद विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट भी दिल्ली रवाना होने की खबरे आ रही हैं। सभी के दिल्ली जाने का अलग- अलग तर्क दिया जा रहा है।

 सीएम के बाद स्पीकर और अध्यक्ष भी गये दिल्ली

Uttarakhand Breaking News
Uttarakhand Breaking News

इस समय उत्तराखंड की सियासत में बहुत तेजी से चर्चाओं (Uttarakhand Breaking News) का माहौल गरम हो गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट और विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी भी दिल्ली रवाना हो गये हैं। इन तीनों शीर्ष नेताओं के दिल्ली जाने पर बीजेपी मंत्री मंडल में हलचल मच गई है। अभी किसी के किसी भी कार्यक्रम की पूरी जानकारी नहीं मिल रही है लेकिन यह भी माना जा रहा है कि ये तीनों हाईकमान से मिल सकते हैं।

सभी के दिल्ली जाने के बताए जा रहे अलग- अलग कारण

Uttarakhand Breaking News
Uttarakhand Breaking News

Uttarakhand Breaking News इस तरह से सीएम के बाद दो अन्य शीर्ष नेताओं के दिल्ली जाने पर हर कोई अटकलें लग रही हैं कि आखिर दिल्ली में क्या होने जा रहा है। सीएम के अनुसार वे केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मुलाकात करेंगें। वहीं विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूरी के स्टाफ का कहना है कि उनका दौरा पहले से ही निर्धारित था। साथ ही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के दौरे को लेकर बीजेपी प्रवक्ता स्पष्ट जवाब देते नहीं दिख रहे हैं।

Uttarakhand Breaking News: मंत्री मंडल में बदलाव की चर्चा तेज

Uttarakhand Breaking News
Uttarakhand Breaking News

इस समय उत्तराखंड की सबसे बड़ी खबर (Uttarakhand Breaking News) यही है कि उत्तराखंड में बीजेपी सरकार के मंत्री मंडल में कोई बदलाव होने जा रहा है क्या? हर कोई अपने- अपने तरह से अटकलें लगा रहा है। लेकिन जिस तरह से कुछ दिन से चर्चाएं है कि भर्ती घोटालों को लेकर उठ रहे सवालों को शांत करने के लिए मंत्री मंडल में बदलवा किया जा सकता है।

Uttarakhand Breaking News: कुछ मंत्रियों की धड़कनें हुई तेज

तीन शीर्ष नेताओं के दिल्ली दौरे पर अचानक जाने पर (Uttarakhand Breaking News) उत्तराखंड मंत्री मंडल के कुछ सदस्यों की धड़कने तेज हो गई हैं। भर्ती घोटालों में हाईकमान के फीडबैक मांगने पर दो से तीन मंत्रियों की कुर्सी पर खतरा भी मंडरा रहा है। यह माना जा रहा है कुछ मंत्रियों को हटाकर नया मंत्री मंडल बनाया जा सकता है और नये और युवा चेहरों को जगह दी जा सकती है।

ये भी पढ़ें…

विधानसभा बैकडोर भर्ती मामले में अब तक सौ से अधिक की सेवाएं हुई समाप्त