Teachers Day 2022 : आखिर क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस?

0
44
Teachers Day 2022
Teachers Day 2022
सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ था। 
माना जाता है कि जब वो भारत के राष्ट्रपति बने तो कुछ छात्र और उनके दोस्त उनसे मिलने पहुंचे।

Teachers Day 2022 : आज के दिन को यानी 5 सितंबर को भारत में शिक्षक दिवस के रूप मनाया जाता है। 5 सितंबर को देश के दूसरे राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म हुआ था इसिलिए उन्हीं के सम्मान में इस दिन को शिक्षक दिवस (Teachers Day )  के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को बच्चे बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। इस दिन को शिक्षकों के सम्मान और उनके प्रति आभार व्यक्त करने के लिए 5 सितंबर को शिक्षक दिवस (Teachers Day 2022)  मनाया जाता है. आपको बता दें कि पहली बार साठ के दशक में टीचर्स डे मनाया गया था।

Teachers Day 2022
Teachers Day 2022

सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ था। माना जाता है कि जब वो भारत के राष्ट्रपति बने तो कुछ छात्र और उनके दोस्त उनसे मिलने पहुंचे।

Teachers Day 2022 
Teachers Day 2022

यहां उन्होंने डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म भव्य तरीके से मनाने की अनुमति मांगी तो ,डॉ राधाकृष्णन ने कहा कि मेरे जन्म दिन को अलग तरीके से मनाने के बदले आज शिक्षक दिवस के रुप में मनाया जाए तो उन्हें इस बात की खुशी होगी।

तो इस दिन हम सभी को अपने शिक्षकों से संपर्क करना चाहिए, उन्हें धन्यवाद करना चाहिए क्योंकि आज वो जिस मुकाम पर हैं, उनमें उनके टीचर्स की भी विशेष भूमिका रही है।

आज के दिन स्कूलों में रंगारंग कार्यक्रम और तरह तरह की एक्टिविटीज का आयोजन होता है। बच्चे और शिक्षक दोनों ही सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग में लेते हैं। इस दिन स्कूल कॉलेज और अलग अलग संस्थानों में शिक्षक दिवस पर अलग अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

पीएम मोदी जब एक फोन पर मिलने पहुंच गए थे अपने टीचर के घर

आपको बता दें कि कुछ महीनों पहले एक फोटो खूब वायरल हो रही थी। ये फोटो थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ उनके 88 साल के स्कूल टीचर जगदीश नायक की। जगदीश नायक से मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने इसके पीछे की कहानी भी बताई उन्होंने कहा कि अब वे तापी जिले के व्यारा में रहते है और एक समय वे वडनगर में टीचर हुआ करते थे । उस समय उन्होंने पीएम मोदी को पढ़ाया था।

 

Teachers Day 2022
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने शिक्षक के साथ

उनकी ख्वाहिश थी की वो एक बार पीएम मोदी से मिलना चाहते थे, फिर क्या था उन्होंने पीएम मोदी से मिलने की एक कोशिश की और मोदी खुद अपने टीचर से मिलने पहुंच गए। आपको बता दें कि जगदीश नायक के पोते पार्थ ने बताया था कि दादाजी पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए कई बार अपनी इच्छा जाहिर कर चुके थे लेकिन जब उन्हें पता चला कि मोदी नवसारी आ रहे हैं तो एक दिन पहले ही उन्होंने पीएमओ फोन किया था। पार्थ ने कहा कि बहुत ही आश्चर्य हुआ कि जब पीएम मोदी का फोन आया और उन्होंने कहा कि वो भी अपने टीचर से मिलना चाहते हैं।

ये भी पढे़ं : Uttarakhand Open University Jobs Scam! किसी ने फिट की बहू, किसी ने बहन; सूची वाइरल, मचा बवाल