Uttarakhand Open University Jobs Scam! किसी ने फिट की बहू, किसी ने बहन; सूची वाइरल, मचा बवाल

0
79
Uttarakhand Open University Jobs Scam

Uttarakhand News- Dehradun Bureau: Uttarakhand Open University Jobs Scam! उत्तराखंड में लगातार भर्तियों में हुई धांधलियाँ सामने आ रही हैं। अब Uttarakhand Open University Jobs Scam की सूची जमकर सोशल मीडिया पर वाइरल हो रही है। इसमें BJP के संगठन RSS के कुछ पदाधिकारियों के साथ ही 1 पूर्व राज्य मंत्री और वर्तमान कैबिनेट मंत्री के रिश्तेदारों का नाम सामने आ रहे हैं।Uttarakhand Open University Jobs Scam में एक पूर्व केन्द्रीय मंत्री के कारीबियों के नाम की सूची भी वाइरल की जा रही है।

Uttarakhand Open University Jobs Scam: 56 पदों पर हुई थी नियुक्तियां

दरअसल, उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी (Uttarakhand Open University) ने बीजेपी सरकार के पिछले कार्यकाल में 56 पदों पर यह नियुक्तियां की थी। इनमें से 17 से अधिक पदों पर तत्कालीन उच्च शिक्षा राज्य मंत्री और वर्तमान कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत के पीआरओ, UOU रजिस्ट्रार के करीबी समेत तमाम रसूखदारों, आरएसएस पदाधिकारियों के साथ ही एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के खासमखास लोगों को यहां पर मोटी-मोटी तनख्वाह वाली नौकरियां रेवड़ियों की तरह बांट दी गई। अब भर्ती घोटाले के बाद हर विभाग और संस्थाओं में हुई नियुक्तियों के गड़बड़झाले के खुलासे लगातार हो रहे हैं। देखना यह होगा कि किस किस गड़बड़झाले की सरकार जांच करती है।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) पेपर लीक मामले की जांच के बाद विधानसभा से लेकर हर विभाग में नेता, अधिकारी, पत्रकार और दलालों ने अपने अपने करीबियों और जानने वालों को सरकारी नौकरियां रेवड़ियों की तरफ बांट दी। अब खुलासा तमाम विभागों का भी हो रहा है।

Uttarakhand Open University Jobs Scam

इन अवैध नियुक्तियों की सूची हो रही अब वाइरल 

अब Uttarakhand Open University Jobs Scam की नई सूची सोशल मीडिया पर वाइरल हो रही है। सोशल मीडिया के इस दौर में रोज एक नई सूची वायरल हो रही है। दो दिन पहले विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष यशपाल आर्य, गोविंद सिंह कुंजवाल के कार्यकाल के दौरान हुई नियुक्तियों की सूची वायरल हो रही थी। वहीं, दूसरी ओर अब उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में उच्च शिक्षा राज्य मंत्री और वर्तमान शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत और एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदारों को मिली पिछले दरवाजे की नियुक्तियों की सूची जमकर वायरल हो रही है।

Uttarakhand Open University Jobs Scam: कहीं न कहीं कोई बड़ा खेल होने की आशंका

हालांकि इसकी पुष्टि हम भी नहीं कर रहे हैं, लेकिन जिस तरके से यह सूची वायरल हो रही है उसमें कहीं न कहीं कोई बड़ा खेल होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। दरअसल, उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी में गुपचुप तरीके से पिछले दरवाजे से करीब 17 लोगों की सरकारी नौकरी लगा दी गई। भाजपा की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे एक वरिष्ठ नेता के रिश्तेदारों को कई अहम पद पर तैनाती दे दी गई। जबकि दूसरी ओर वायरल हो रही है इस सूची को लेकर उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति ओपीएस नेगी ने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। सभी नियुक्तियां नियम के अनुसार की गई हैं।

UTTARAKHAND VIDHANSABHA Uttarakhand Open University Jobs Scam

तूल पकड़ता जा रहा उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में 17 नियुक्तियों का मामला 

जब से पहाड़ी प्रदेश में उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के 916 पदों के लिए हुई वीडीओ-वीपीडीओ भर्ती परीक्षा पेपर लीक की जांच शुरू हुई तब से उत्तराखंड विधानसभा, सहकारिता, खेल एवं युवा कल्याण से लेकर से लेकर तमाम सहाकारी बैंकों, विभागों, निगमों के साथ ही अब उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय में हुई 17 नियुक्तियों का मामला (Uttarakhand Open University Jobs Scam) तूल पकड़ता जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस सूची के अनुसार इन पदों पर भाजपा के महत्वपूर्ण संगठन आरएसएस के पदाधिकारी की बहन, एक पदाधिकारी की छोटी बहू, पूर्व सीएम के एक पूर्व सीएम के करीबी को मोटी तनख्वाह पर असिस्टेंट प्रोफेसर बना दिया गया है।

Uttarakhand Open University Jobs Scam

कुलपति बोले नियुक्तियां नियमानुसार हुई 

यही नहीं एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के भतीजी को भी असिस्टेंट प्रोफेसर बनाया दिया गया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही Uttarakhand Open University Jobs Scam की इस सूची में 11 नियुक्तियां विभिन्न जनप्रतिनिधियों के रिश्तेदार और करीबियों की बताई जा रही हैं। जबकि 7 नियुक्तियां फर्जी तरीके से बैक डोर से होने की बात सामने आ रही है। उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति नियम के अनुसार सभी पदों पर चयन प्रक्रिया, साक्षात्कार और सभी नियमों पर खरा उतरने के बाद ही नियुक्तियां की गई हैं।

अब देखना होगा कि अगर सरकार इसकी जांच कराए तो कोई खेल सामने आता है या नहीं कई बार सोशल मीडिया पर भ्रामक और बेबुनियाद सूचियां भी वायरल की जा रही हैं। 2 दिन पूर्व कई कांग्रेस नेताओं के करीबी बताकर सोशल मीडिया पर विधानसभा में तैनात कर्मचारियों की सूची वायरल कर दी गई या कहीं न कहीं यह एक पार्टी के आईटी सेल की दिमागी उपज है। अब देखना होगा कि इस वायरल हो रही सूची में कितनी सच्चाई है।

UKSSSC के बाद Uttarakhand विधानसभा और दारोगा भर्ती की होगी जांच!

Uttarakhand Police SI Exam : 339 में से Team Hakam Singh ने कितने लगवाए? इस बैच में हड़कंप