पूजा के लिए गांव जा रहे टैक्सी चालक की नई कार सांड को रौंदते हुए गड्ढे में गिरी, मौत

नई दिल्ली, ब्यूरो। गुरुग्राम (गुड़गांव) से अपनी नई कार को पूजा के लिए गांव ले जा रहे टैक्सी चालक सड़क पर अंधेरे के कारण अंदाजा नहीं लगा पाया और सांड को रौंदते हुए कार एक गड्ढ़े में जा गिरी। इस दर्दनाक हादसे में सांड की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने जेसीबी से सांड को दफनाया। जानकारी के अनुसार हाथरस जिले के खेड़ा सुल्लानपुर निवासी ब्रजेश कुमार गुड़गांव में निजी कार से परिवार का भरण पोषण कर रहा है। कुछ दिन पहले ही उसने एक और कार खरीदी और आज सुबह पांच बजे कार की पूजा के लिए अपने गांव आ रहा था। इस दौरान रोड़ पर कार सांड से जा टकराई और फिर एक गड्ढ़े में जा गिरी। कार में ब्रजेश की पत्नी, भाभी और बच्चे भी सवार थे। हादसा लोधा इलाके के गांव करसुआ के पास हुआ है। गनीमत यह रही कि किसी कार सवार को ज्यादा चोटें नहीं आई हैं।

पूजा के लिए गांव जा रहे टैक्सी ड्राइवर की नई कार सांड से जा टकराई और फिर एक गड्ढ़े में जा गिरी। इस हादसे में सांड की मौके पर ही मौत हो गई। बता दें कि उत्तर प्रदेश के जिला हाथरस के थाना क्षेत्र हसायन के गांव खेड़ा सुल्लानपुर का ब्रजेश कुमार गुड़गांव में टैक्सी चलाकर परिवार का भरण पोषण करता है और परिवार के साथ गुड़गांव में ही रहता है। करीब एक सप्ताह पहले ब्रजेश ने एक और नई कार खरीद। इसकी पूजा के लिए वह अपने गांव में जा रहा था। रविवार को तड़के पांच बजे अंधेरे में ही नाश्ता बिना बगैर ब्रजेश पत्नी, बच्चे और भाभी के साथ गांव के लिए रवाना हो गया।

जब वह लोधा क्षेत्र में सुबह करीब पांच बजे के करीब पहुंचे तभी गांव करसुआ के पास अचानक सामने सांड आ गया कार इतनी तेज थी कि कार सांड से टकराती हुई गडढे में जा घुसी। हादसे में सांड की मौत हो गयी । सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जेसीबी से सांड को दफन कराया। कार क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण कार सवारों ने अपने परिचित के माध्यम से किसी वाहन का इंतजाम किया। काफी देर वाहन के इंतजार में बैठे कार सवार बच्चे भूख से बेचैन थे, तब कार मालिक ब्रजेश ने बच्चों के लिए खाने का प्रबंधन किया और कार सवार किसी अन्य वाहन से अपने गांव पहुंचे।

दुःखदः तेज रफ्तार ट्रक ने ई-रिक्शा को रौंदा, नवविवाहित बैंक कर्मी समेत दो की दर्दनाक मौत