Shock to Uttarakhand Congress: द्वारीखाल ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा

0
220
Shock to Uttarakhand Congress

देहरादून ब्यूरो- Shock to Uttarakhand Congress: द्वारीखाल के ब्लॉक प्रमुख और उत्तराखंड ब्लॉक प्रमुख संघ के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र राणा ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। कांग्रेस में गुटबाजी उपेक्षा को उन्होंने इसकी वजह बताई है।

Shock to Uttarakhand Congress

गुटबाजी और उपेक्षा के कारण छोड़ी कांग्रेस

महेंद्र राणा ने कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजा है। जिसमें उन्होंने साफ कहा कि कांग्रेस पार्टी में जिस तरह की गुटबाजी चल रही है और निष्ठावान एंव कर्मठ कार्यकर्ताओं की उपेक्षा हो रही है, उस कारण वे अपने प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं। साथ ही उन्होंने उत्तराखंड कांग्रेस पर आरोप भी लगाया कि यहां चाटुकारिता और भाई- भतीजावाद को ज्यादा तरजीह दी रही है।

Shock to Uttarakhand Congress: आईसीसी के सदस्य रहे महेंद्र राणा

Shock to Uttarakhand Congress

महेंद्र राणा ने अपने इस्तीफे में कहा कि वे 25 वर्षों से कांग्रेस से जुड़े हुए थे और पिछले 15 सालों से वे कांग्रेस संगठन में विभिन्न पदों पर रहे। वर्तमान में वे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य भी थे और प्रदेश कांग्रेस में महामंत्री के पद पर भी कार्य कर रहे थे। लेकिन कुछ समय से उन्हें पार्टी में उपेक्षा का शिकार होना पड़ रहा है। महेंद्र राणा ने कांग्रेस क्यों छोड़ी इस पर पार्टी पर सवाल खड़े हो रहे हैं वे जितना करीब प्रीतम सिंह के थे उतना ही करीब वे हरीश रावत के भी थे।

Shock to Uttarakhand Congress: तीन बार के ब्लॉक प्रमुख हैं महेंद्र राणा

Shock to Uttarakhand Congress: महेंद्र राणा ने पौड़ी जिले ही नहीं उत्तराखंड की राजनीति में अलग पहचान बनाई है। महेंद्र राणा दो बार पौड़ी जिले के कल्जीखाल ब्लॉक में निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बने साथ ही वर्तमान में द्वारीखाल ब्लॉक के भी निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बने। वे अपने पिछेल ब्लॉक प्रमुख के कार्यकाल में उत्तराखंड ब्लॉक प्रमुख संघ के प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष थे और इस बार भी वे ब्लॉक प्रमुख संघ के प्रदेश अध्यक्ष हैं। इसलिए उनका कांग्रेस छोड़ना (Shock to Uttarakhand Congress) कांग्रेस के लिए बड़ा झटका कहा जा रहा है।

Shock to Uttarakhand Congress

Shock to Uttarakhand Congress: विधानसभा में की थी दावेदारी

उन्होंने 2017 और 2022 दोनों विधानसभा चुनावों में यमकेश्वर विधानसभा से प्रत्याशी के लिए दावेदारी की थी लेकिन पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया। भले ही उन्होंने दोनों चुनाव में पार्टी के साथ ही मिलकर कार्य किया था, लेकिन कहीं न कहीं बीजेपी छोड़कर आये शैलेंद्र सिंह रावत को टिकट देने पर नाराज भी चल रहे थे।

कांग्रेस छोड़ने वालों की बढ़ रही है संख्या

Shock to Uttarakhand Congress: उत्तराखंड कांग्रेस को यह पहला बड़ा झटका (Shock to Uttarakhand Congress) नहीं है। इससे पहले कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी और उपेक्षा का आरोप लगाकर वरिष्ठ कांग्रेस जोत सिंह बिष्ट, आरपी रतूड़ी और कमलेश रमन जैसे कार्यकर्ता कांग्रेस को बाय-बाय कह चुके हैं।

कहां जाएंगे अभी नहीं किया साफ

Shock to Uttarakhand Congress देने वाले महेंद्र राणा अब किस पार्टी को ज्वाइन करेंगे उन्होंने साफ नहीं किया है। उनके आगे भाजपा और आम आदमी पार्टी दोनों पार्टियों के विकल्प खुले हुए हैं। यहां एक बात और गौर करने लायक है कि उनकी पत्नी बीना राणा वर्तमान में बीजेपी से कल्जीखाल ब्लॉक की प्रमुख हैं। ऐसे में साफ है कि बीजेपी से भी उनके करीबी संबंध हैं।

ये भी पढें…

Uttarakhand Weather Update: आज से 3 सितंबर तक भारी बारिश को लेकर येलो अलर्ट