RTO से नहीं अब ऐसे बनेगा DL, 1 जुलाई 2022 से लागू हो रहे ये नए नियम

0
126

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्रालय के नियम 1 जुलाई 2022 से हो जाएंगे लागू

नई दिल्ली/देहरादून, ब्यूरो। डीएल बनाने के लिए हर कोई आरटीओ के चक्कर काट-काट कर परेशान रहता है। कोई दलालों को दलाली देकर तो कोई धक्के खाकर अपने डीएल बनाता है। इसके साथ ही कई बार डीएल खो जाने और रिन्युवल के वक्त भी लोग आरटीओ के चक्कर काट-काट कर परेशान हो जाते हैं, लेकिन अब आपको डीएल बनाने के लिए आरटीओ के चक्कर नहीं काटने होंगे। जीं, हां कुछ ऐसा ही अब पूरे भारत देश में होने जा रहा है। मोदी सरकार ने अब 1 जुलाई 2022 से डीएल बनाने के लिए मोटर ड्राइविंग स्कूल को जिम्मेदारी सौंपने का निर्णय लिया है। केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्रालय और हाईवे मंत्रालय के नए नियम एक जुलाई से लागू हो जाएंगे। ये नियम जारी होने के बाद आम लोगों को काफी राहत मिलेगी। हालांकि ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल में बाकायदा आपको लिखित और प्रैक्टिकल एग्जाम क्रैक करना होगा।

अब ऐसे बनेगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस…

अब आम लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस यानि डीएल बनाने के लिए आरटीओ में टेस्ट देने का इंतजार नहीं करना होगा। आप ड्राइविंग लाइसेंस के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल में पंजीकरण करवा सकते हैं। उसके बाद वहां से ट्रेनिंग लेने पर वहीं से टेस्ट पास किया जा सकता है। वहीं, जो नागरिक टेस्ट पास करेंगे तो उन्हें स्‍कूल एक सर्टिफिकेट भी जारी करेगा। उस सर्टिफिकेट द्वारा नागरिकों का ड्राइविंग लाइसेंस बन जाएगा।

new dl process

बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के नए नियमों के मुताबिक अब आपको आरटीओ जाकर किसी प्रकार का ड्राइविंग टेस्ट नहीं देना पड़ेगा। केंद्रीय सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय नए नियमों को 1 जुलाई 2022 से लागू करने वाला है। जब नए नियम लागू हो जाएंगे तो उसके बाद ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए इंतजार कर रहे नागरिकों को बहुत राहत मिलने की उम्मीद है। अभी तक की प्रक्रिया के अनुसार काफी सालों से आरटीओ में भी आनलाइन आवेदन के बाद ही डीएल के स्लाॅट बुक किए जाते हैं। पहले लर्निंग डीएल बनाया जाता है जो तीन माह या अधिकतम छह माह तक रहता है। इसके बाद प्रमानेंट डीएल के लिए टेस्ट के बाद लाइसेंस जारी किया जाता है। नई व्यवस्था में अब आपको लिखित और प्रैक्टिकल दोनों ही टेस्ट पास होने के बाद जो सर्टिफिकेट मोटर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल से जारी किया जाएगा, उसी के आधार पर आपका डीएल बना दिया जाएगा।

RTO से नहीं अब ऐसे बनेगा DL, 1 जुलाई 2022 से लागू हो रहे ये नए नियम