गणतंत्र दिवस परेड 2023 की शोभा बढ़ाएगी उत्तराखंड की ये झांकी

0
192
republic day parade 2023
republic day parade 2023

Uttarakhand Devbhoomi Desk: देवभूमी उत्तराखंड वासियों के लिए ये गौरवशाली पल है कि इस बार भी गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखंड की आकर्षक झांकी दिखाई जायेगी। बताया जा रहा है कि उत्तराखंड की मानसखण्ड पर आधारित झांकी है जिसको गणतंत्र दिवस परेड 2023 में शामिल किया जा रहा है। राज्य की झांकी का अंतिम चयन हो गया है।

मिली जानकरी के अनुसार मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के मार्गदर्शन के उपरान्त मानसखण्ड (republic day parade 2023) पर आधारित झांकी को भारत सरकार ने नई दिल्ली कर्त्तव्य पथ पर प्रस्तुत करने की स्वीकृति प्रदान कर दी है जो प्रदेश वासियों के लिए गौरव की बात है।

यह भी पढ़े:
pm modi flag off vande bharat train
नम आंखों से मां को अंतिम विदाई देकर ही PM मोदी ने किया ये बड़ा काम

republic day parade 2023: ये होगा झांकी का थीम सांग

सूचना विभाग के महानिदेशक श्री बंशीधर तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि झांकी के अग्र और मध्य भाग में कार्बेट नेशनल पार्क का विचरण करते हुए राज्य में पाये जाने वाली विभिन्न पशु एवं पक्षियों व झांकी के पृष्ठ भाग में प्रसिद्ध जागेश्वर मन्दिर समूह तथा देवदार के वृक्षों को (republic day parade 2023) दिखाया जायेगा।

साथ ही यह भी बताया कि झांकी के साथ राज्य की लोक संस्कृति को प्रदर्शित करने के लिए छोलिया नृत्य का दल सम्मिलित किया जाएगा। और झांकी का थीम सांग राज्य की लोक संस्कृति पर आधारित होगा। ऐसे में देश विदेश के लोग मानसखण्ड के साथ ही उत्तराखंड की लोक संस्कृति से भी परिचित होंगे।

यह भी पढ़े:
Rishabh pant accident news
मां को सरप्राइज़ देना चाहते थे Rishabh Pant लेकिन शायद नियती को कुछ और ही था मंजूर

बता दें कि गणतंत्र दिवस की झांकी के लिए लगभग 27 राज्यों ने अपने प्रस्ताव भारत सरकार (republic day parade 2023) को प्रेषित किये थे, जिसमें सिर्फ 16 राज्यों का ही अंतिम चयन हुआ है। जिसमे उत्तराखंड राज्य भी शामिल है। गौरतलब है कि अभी तक राज्य द्वारा गत् वर्षों में 13 झांकियों का प्रदर्शन कर्त्तव्य पथ पर किया गया है।

जिसमे वर्ष 2003 में ‘फुलदेई’, वर्ष 2005 में ‘नंदा राजजात’, वर्ष 2006 में ‘फूलों की घाटी’, वर्ष 2007 में ‘कार्बेट नेशनल पार्क’, वर्ष 2009 में ‘साहसिक पर्यटन’, वर्ष 2010 में ‘कुम्भ मेला हरिद्वार’, वर्ष 2014 में ‘जड़ीबूटी’, वर्ष 2015 में ‘केदारनाथ’, वर्ष 2016 में ‘रम्माण’, वर्ष 2019 में ‘अनाशक्ति आश्रम’, वर्ष 2021 में ‘केदारखण्ड’ तथा वर्ष 2022 में ‘प्रगति की ओर बढ़ता उत्तराखंड’ शामिल हैं।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com