Tuesday, September 27, 2022
Homeधार्मिक कथाएंPitru Paksha 2022 : मृत्यु के समय ये चीजें हों पास तो...

Pitru Paksha 2022 : मृत्यु के समय ये चीजें हों पास तो बिना श्राद्ध के ही मिल जाता है स्वर्ग

 मरते समय मृत व्यक्ति के
 पास ये चीजें हो तो 
मृत व्यक्ति को सीधे स्वर्ग
 की प्राप्ति होती है।

Pitru Paksha 2022

इन दिनों पितृपक्ष चल रहा है, इसमें पितरों की आत्मा की शांति के लिए उनका श्राद्ध किया जाता है और उनको दान दिया जाता है। माना जाता है कि इन दिनों तर्पण और पिंडदान करने से पितरों को स्वर्ग की प्राप्ति होती है। लेकिन आज के इस आर्टीकल में हम आपको बताएंगे कि यदि मरते समय मृत व्यक्ति के पास ये चीजें हो तो मृत व्यक्ति को सीधे स्वर्ग की प्राप्ति होती है। गरुड़ पुराण के अनुसार यदि ये चीजें मृत व्यक्ति के पास होती है तो उन्हें स्वर्ग जाने के लिए अन्य किसी तरह के विधि विधान की जरुरत नहीं पड़ती।

गंगाजल

pragraj 4986358 340

Pitru Paksha 2022

गरुड़ पुराण के अनुसार, मरने का समय निकट आने से पहले मृत व्यक्ति के मुंह में थोड़ा से गंगाजल डाल देना चाहिए। माना जाता है कि कमल चरणों से निकली गंगा पापों का नाश करती है और पाप का नाश होते ही इंसान को बैकुण्ठ प्राप्त करने का अधिकार मिल जाता है। इसीलिए अस्थियों को भी गंगा में विसर्जित किया जाता है। माना जाता है कि जब तक ये अस्थियां गंगा में रहती हैं, इंसान तब तक स्वर्ग का सुख भोगता है।

तुलसी

holy basil 5324875 340

Pitru Paksha 2022

माना जाता है कि मरने वाले व्यक्ति को तुलसी के पास लेटा दिया जाए तो उसके मुंह और माथे पर  तुलसी के पत्ते और मंजरियों को रख दिया जाए तो इंसान सीधे परलोक सिधारता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर में रखी तुलसी का पौधा तीर्थरुपी होता है। ऐसा कहा जाता है इंसान तुलसी की मंजरी से युक्त होकर प्राण त्यागता है।

कुश

Kush benefits

कुश एक प्रकार की घास होती है। सनातन धर्म में कुश का विशेष महत्व बताया गया है। इस घास के बिना ईश्वर की पूजा अधूरी मानी जाती है। माना जाता है कि कुश भगवान विष्णु के रोम से उत्पन्न हुई है।  मृत्यू के समय उस इंसान को कुश का आसन बिछाकर लेटा देना चाहिए। कहा जाता है कि मरने से पहले ये उपाय करने से आत्मा को श्राद्धकर्म के बिना ही सीधे स्वर्ग में स्थान मिल जाता है।

तिल

til

माना जाता है कि तिल भगवान विष्णु के पसीने से उत्पन्न होने के कारण पवित्र होता है। इसिलिए श्राद्ध पक्ष में तिल का विशेष महत्व माना जाता है।  जब भी इंसान की मृत्यू निकट आती है तो उसके हाथ से तिल का दान करवा देना चाहिए। माना जाता है कि तिल का दान करने से दैत्य असुर और दानव दूर ही रहते हैं।  मरने वाले के सिरहाने पर काले तिल रखना अच्छा माना जाता है।

ये भी पढे़ं : Jivitputrika Vrat 2022 : जानें किस दिन रखा जाएगा Jivitputrika Vrat, 17 सितंबर या 18?

RELATED ARTICLES

Most Popular