देहरादून।(संवाददाता- अमित रतूड़ी): उत्तराखंड साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन ने दिल्ली एनसीआर में धरपकड़ कर आईडीएफसी बैंक अधिकारी को गिरफ्तार किया। इस अधिकारी बन्द पड़ी बीमा पॉलिसी के नवीनीकरण और प्रीमियम को शेयर मार्केट में लगाने के नाम 68 लाख की धोखाधडी करने का आरोप है।

आरोपी ने स्वंय को बीमा पॉलिसी एजेन्ट बताते हुए लोगों को फोन कर उनके बन्द पड़े बीमा पॉलिसी के नवीनीकरण के साथ बीमा पॉलिसी प्रीमियम के शेयर मार्केट में लगाकर लाभ कमाने का लालच था। आरोपी फर्जी नाम पता और आधार कार्ड, वोटर कार्ड के आधार पर विभिन्न बैंक खातो में खाते खुलवाता था और फर्जी नाम से सिम कार्ड प्राप्त कर घटना को अंजाम दिया था। साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन के सामने एक मामला आया जिसमें रायपुर, देहरादून निवासी एक महिला के साथ इसी तरह की थोकाधड़ी हुई। जिसमें शिकायतकर्ता को अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन के माध्यम से सम्पर्क कर स्वंय को बीमा पॉलिसी एजेन्ट बताते हुए उनके भाई की बीमा पॉलिसी की प्रीमियम जमा न होने के कारण पॉलिसी समाप्त होने की बात की। साथ प्रीमियम जमा करने पर उस पॉलिसी की धनराशि को शेयर मार्केट में लगाने की बात भी की। इस तरह से आरोपी ने इस महिला के साथ 68 लाख की धोकाधड़ी को अंजाम दिया। साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून ने मामला पंजीकृत किया और विवेचना साइबर थाने के निरीक्षक विकास भारद्वाज को सौंप दी। पुलिस टीम ने दिल्ली एनसीआर और गाजियाबाद के विभिन्न बैंको में जाकर अभियुक्तों के खातों की जानकारी प्राप्त की गयी। इस मामले में 14 अगस्त को मुख्य आरोपी देवेश नंदी को नोएडा से गिरफ्तार किया गया। उसके द्वारा अपने अन्य साथियों के बारे में बताया गया। इसके बाद बाराखंबा रोड आईडीएफसी बैंक ब्रांच के अधिकारी को पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपी आदित्य त्यागी ने मुख्य आरोपी देवेश नंदी को अपराध करने के लिए विभिन्न बैंक खाते खुलवाएं जिनका फर्जी सत्यापन किया गया था। साथ ही धोखेधड़ी की धनराशि को बैंक खातों में ठिकाने लगाया गया। इस मामले में मुख्य आरोपी देवेश नंदी ने खातों की जानकारी जस्ट डायल प्लेटफार्म से ली गई थी। अब पुलिस ने जस्ट डायल नोडल को भी जवाब तलब किया गया है।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/devbhoominews

Leave your comment

Your email address will not be published.