Tuesday, September 27, 2022
HomeदेशNIA का टेरर फंडिंग और ट्रेनिंग कैंप पर शिकंजा, 11 राज्यों में...

NIA का टेरर फंडिंग और ट्रेनिंग कैंप पर शिकंजा, 11 राज्यों में PFI के ठिकानों पर छापेमारी,106 गिरफ्तार

11 राज्यों में NIA [राष्ट्रीय जांच एजेन्सी] ने PFI[पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया]  पर देशभर में मारे छापे

NIA [राष्ट्रीय जांच एजेन्सी] ने PFI [पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया] और उससे जुड़े लिंक पर देशभर में छापेमारी की है। जांच एजेन्सी ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया और उससे जुड़े लोगों पर टेरर फंडिंग और कैंप चलाने के मामले में 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। NIA ने यूपी, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु समेत कई राज्यों में PFI और उससे जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की है।

NIA

NIA ने  PFI पर टेरर फंडिंग और ट्रेनिंग कैंप चलाने का आधार मानकर की कारवाई, 106 लोग गिरफ्तार

टेरर फंडिंग और ट्रेनिंग कैंप चलाने के मामले में जांच एजेन्सी NIA ने यह कारवाई की है। ED, NIA और राज्यों की पुलिस ने 11 राज्यों से PFI से जुड़े 106 लोगों को अलग अलग मामलों में गिरफ्तार किया है। NIA ने PFI के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमएस सलाम और दिल्ली अध्यक्ष परवेज़ अहमद को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए कुछ लोगों को  दिल्ली हेडक्वार्टर लाया जा सकता, ऐसे में NIA के दफ्तर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

NIA ने यूपी,केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु समेत कई राज्यों में PFI और उससे जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की है। जांच एजेन्सी को भारी संख्या में PFI और उससे जुड़े लोगों की स्ंदिग्ध गतिविधियों के बारे में पता चला है जिसके आधार पर जांच एजेन्सी आज बड़े स्तर पर क्रेकडाउन कर रही है। PFI और उससे जुड़े लोगों की ट्रेनिंग गतिविधियों, टेरर फंडिंग और लोगों को संगठन से जोड़ने को लेकर ये अबतक का सबसे बड़ा एक्शन है।

NIA ने सबसे ज्यादा गिरफ्तारियाँ केरल,दिल्ली और यूपी से की

जांच एजेन्सी ने सबसे ज्यादा केरल से 22 लोगों को गिरफ्तार किया है। उसके बाद महाराष्ट्र और कर्नाटक से 20-20, आंध्र प्रदेश से 5, असम से 9, दिल्ली से 3, मध्य प्रदेश से 4, पुद्दुचेरी से 3, तमिलनाडु से 10, यूपी से 8 और राजस्थान से 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों के अनुसार यह अब तक की सबसे बड़ी कारवाई  मानी जा रही है।

NIA

NIA की छापेमारी पर PFI का विरोध, कहा विरोधी आवाजों को दबा रही सरकार

एजेन्सी की छापेमारी पर PFI महासचिव अब्दुल सत्तार ने कहा कि फासीवादी शासन द्वारा विरोध कि आवाजों को  दबाने के लिए एजेन्सी का इस्तेमाल किया जा रहा है, उन्होने कहा कि शासन द्वारा किए जा रहे अत्याचारों का ताज़ा उदाहरण आधी रात को लोकप्रिय नेताओं के घर पर छापेमारी है।

ये भी पढ़ें  Delhi Police की स्पेशल सेल ने पकड़ी अब तक की सबसे बड़ी ड्रग की खेप

NIA ने PFI पर  दंगे के लिए मुस्लिम लड़कों को तैयार करने का आरोप लगाया 

एजेन्सी ने PFI और कराटे टीचर अब्दुल कादिर पर शिकंजा कस दिया है। सूत्रों के अनुसार अब्दुल कादिर और PFI पर आरोप है कि कराटे सिखाने कि आड़ में मुस्लिम युवकों को दंगे के लिए तैयार कर रहा था। सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार हुए लोगों के पास हथियार बरामद हुए हैं ।

For Latest National News Subscribe devbhoominews.com

RELATED ARTICLES

Most Popular