मध्य प्रदेश, ब्यूरो :  सिंगरौली क्षेत्र में एक 32 साल की महिला को प्यार का खुमार ऐसा चढ़ा कि वो 16 साल के नाबालिग को लेकर भाग गई। दरअसल खुटार क्षेत्र के रहने वाले कमलेश शाह का बेटा 12वीं में पढ़ता है। पिता के अनुसार उनकी गैर मौजूदगी में उनके बेटे की शादी सरपंच के आदेश पर एक 32 वर्षीय महिला के साथ करा दी गई। पिता के मुताबिक उनका बेटा अभी केवल 16 साल 4 महीने का है। वहीं शादी के 5 दिन तक तो महिला अपने ससुराल में ही रही। लेकिन उसके बाद अचानक 13 मई को महिला अपने नाबालिग पति को लेकर फरार हो गई। पीड़ित पिता ने मामले की शिकायत बाल कल्याण समिति से की है। लेकिन पीड़ित पिता का कहना है कि इतने दिन बित जाने के बाद भी उन्हे न्याय नहीं मिला है।

बताया जा रहा है कि नाबालिग से शादी करने वाली महिला खुटार गांव की ही रहने वाली है। जिसकी शादी एक बार पहले भी 7 साल पहले हो चुकी है। लेकिन 1 साल तक ससुराल में रहने के बाद महिला ने पति को तलाक दे दिया और अपने मायके आकर रहने लगी।  वहीं महिला की दूसरी शादी उत्तर प्रदेश के शक्तिनगर में मार्च महीने में हुई थी। लेकिन वहां भी उसकी नहीं बनी और वह फिर महिला मायके आकर रहने लगी। इसी बीच महिला का पड़ोस में रहने वाले नाबालिग पर दिल आ गया। और अपने पड़ोस में रहने वाले आधी उम्र के नाबालिग से शादी करने की जिद लेकर वो सरपंच के पास पहुंच गई।  फिर क्या था सरपंच ने भी ऐसा अजब-गजब फैसला सुनाया और दो लोगों को भेज कर नाबालिग की शादी ग्राम पंचायत में लोगों की मौजूदगी में महिला से करा दी। शादी के बाद महिला 5 दिनों तक तो अपने ससुराल में रही। लेकिन बाद में वो अपने नाबालिग पति को लेकर फरार हो गई। महिला के फरार होने के बाद नाबालिग लड़के के पिता कमलेश शाह ने सिंगरौली बाल कल्याण  समिति में इसकी शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद सिंगरौली कलेक्टर राजीव रंजन मीणा ने एसडीएम ऋषि पंवार के नेतृत्व में टीम गठित कर जांच करने के निर्देश दिए।