मायके में पति से हुई फोन पर बात और मासूम जाहन्वी का गला दबाकर खुद फंदे से लटकी पिंकी

0
239

निर्दयी मां ने अन्नप्राशन के बाद मासूम बेटी का गला दबाया, खूद जंगल में पेड़ पर फंदा लगाकर लटकी
विगत शनिवार को मायके से निकली महिला अपनी मासूम बेटी को साथ लेकर गई थी, कुछ दिन पहले ही किया था बच्ची का अन्नप्राशन

रुद्रपुर, ब्यूरो। अपराधों के लिए सुर्खियों में रहने वाले तराई क्षेत्र से एक और सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां एक निर्दयी मां अपने मायके से दो दिन पहले तड़के ही निकली और शक्तिफार्म इलाके के रुदपुर गांव के पास सूखी नदी से लगभग दो किमी दूर पहले आठ माह की बेटी को गला दबाकर मार डाला फिर खुद फांसी का फंदा बनाकर जंगल में एक पेड़ पर लटककर अपनी जीवन लीला भी समाप्त कर दी। महिला पिंकी का शव पेड़ पर फंदे पर झूलता मिला। जहां पर फांसी लगाकर महिला लटकी थी, उससे चंद कदम दूर आठ माह की बेटी का शव भी पड़ा था। ऐसे में प्रथमदृष्ट्या पुलिस यह मानकर चल रही कि महिला ने फांसी के फंदे पर झूलने से पहले बेटी की गला दबाकर हत्या की है। हालांकि हत्या के कारणों का साफ-साफ पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सामने आएगा। फिलहाल पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मायके वालों का कहना है कि शुक्रवार को अन्नप्राशन जैसे खुशी के मौके पर भी पिंकी उदास और गुमसुम थी। इससे पहले ही उसकी पति से फोन पर बता हुई थी। मायके वाले अंदेशा लगा रहे हैं कि ऐसी कुछ न कुछ बात हुई है जिससे पिंकी ने इतना बड़ा कदम उठाया है।

मायके में पति से हुई फोन पर बात और मासूम जाहन्वी का गला दबाकर खुद फंदे से लटकी पिंकी

बता दें कि ऊधमसिंह नगर जिले के शक्तिफार्म क्षेत्र के रुदपुर गांव निवासी जोगेश हालदार की 30 वर्षीय बेटी पिंकी की शादी करीब 10 साल पहले पीलीभीत उत्तर प्रदेश के गांधीनगर निवासी निताई हालदार से हुई थी। विगत 2़9 मई को पिंकी आठ माह की बेटी जाहन्वी के अन्नप्राशन कार्यक्रम के लिए आठ साल के बेटे यश के साथ मायके रुदपुर आई थी। पिंकी को उसका भाई राजेश पीलीभीत से लेकर आया था। कुछ दिन पहले ही आठ महीने की बेटी का अन्नप्राशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। मृतक पिंकी के मायके वालों का कहना है कि बच्ची की अन्नप्राशन जैसे खुशी के कार्यक्रम में भी वह गुमसुम और उदास थी। विगत शुक्रवार को पिंकी अपने पति से फोन पर भी बात हुई थी। तब से पिंकी पूरी तरह असहज हो गई।

जब रविवार को अपने घर पीलीभीत जाने की बात पिंकी से मायके वालों ने की तो उसने मना कर दिया। मायके वाले अंदेशा लगा रहे हैं कि कुछ ऐसी बात जरूर है जिसके लिए पिंकी को इतना बड़ा कदम उठाया। बेटी की मौत की सूचना पर मायके वाले और ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए। कुछ ही देर में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और शव को कब्जे में लेकर कार्यवाही शुरू कर दी। दो दिन पूर्व लापता हुई बेटी और उसके मासूम बच्चे की मौत की सूचना मिलते ही मायके में कोहराम मच गया। पिंकी की बीमार मां खबर सुनकर बेहोश हो गई।

चौकी इंचार्ज शक्तिफार्म संजीत कुमार ने कहा कि जंगल में पेड़ पर महिला की झूलती लाश मिली है। महिला के शव के पास ही करीब आठ माह की बेटी भी मृत पड़ी मिली है। प्रथदृष्ट्या महिला ने फांसी लगाने से पहले ही अपनी नवजात को मारा हो। नवजात के गले पर भी निशान मिले हैं। दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद नवजात, महिला की मौत की सही वजह पता चल सकेगी।