केदारनाथ यात्रा शुरू होने से पहले होटल एसोसिएशन और एनएच विभाग के बीच तकरार

0
164

एनएच की कार्यप्रणाली पर होटल एसोसिएशन ने जमकर किया हंगामा, केदारनाथ यात्रा को लेकर आयोजित होटल एसोसिएशन, व्यापार संघ एवं टैक्सी यूनियन की बैठक

रुद्रप्रयाग (नरेश भट्ट): आगामी छह मई से शुरू हो रही केदारनाथ यात्रा को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां तेज हो गई हैं। प्रशासन की ओर से यात्रा में होटल, लॉज सहित टैक्सी यूनियनों से भी सहयोग मांगा जा रहा है और जगह-जगह बैठकों का आयोजन किया जा रहा है। गुप्तकाशी में आयोजित बैठक में व्यापारियों ने एनएच विभाग के खिलाफ जमकर हंगामा किया। व्यापारियों ने कहा कि ऑल वेदर का कार्य कर रही कंपनी ने सीतापुर में पेयजल लाइन को ध्वस्त किया है, जिसे दुरूस्त करने में अब कंपनी आनाकानी कर रही है। कंपनी ने व्यापारियों के साथ जो वायदे किये उन्हें पूरा नहीं किया जा रहा है। ऐसे में व्यापारियों में आक्रोश बना हुआ है।

hotel associasion ki baithak

बता दें कि विश्व विख्यात केदारनाथ धाम की यात्रा छह मई से आम श्रद्धालुओं के लिये शुरू हो रही है। उत्तराखण्ड के चारों धामों में सबसे कठिन यात्रा केदारनाथ धाम की है और प्रत्येक वर्ष यहां लाखों यात्री पहुंचते हैं। प्रशासन का भी यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने का प्रयास रहता है। यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं के साथ ही यात्रा के सुव्यवस्थित संचालन के लिये इन दिनों रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मनुज गोयल एवं पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल की ओर से केदारनाथ यात्रा पड़ाव पर स्थानीय व्यापार संघ, होटल एसोसिएशन एवं टैक्सी यूनियनों के साथ बैठकें की जा रही हैं। यात्रा के सफल संचालन के लिये केदारनाथ यात्रा के अहम पड़ाव गुप्तकाशी में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिला प्रशासन की ओर से सभी से यात्रा के दौरान सहयोग की अपेक्षा की गई। डीएम ने यात्रा के सफल संचालन के लिये व्यापारियों से सुझाव भी मांगे। उन्होंने यात्राकाल के दौरान व्यापारियों की संभावित समस्याओं को गंभीरता से सुनते हुए अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। साथ ही उम्मीद जताई कि व्यापार मंडल भी यात्रा में जिला प्रशासन को सहयोग देते हुए महत्वपूर्ण भूमिका प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि यहां आने वाला हर यात्री बेहतर अनुभव के साथ लौटे, ऐसा हम सभी का ध्येय होना चाहिए। अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटरमीडिएट कॉलेज गुप्तकाशी में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि होटल एसोसिएशन व व्यापारियों का जिला प्रशासन से परस्पर समन्वय होना आवश्यक है।

kedarnath yatra shuru hone se pehle hotel associasion vyapar sang or taxi union ki baithak

डीएम ने केदारनाथ में बड़ी संख्या में यात्रियों के आने की संभावना जताई तथा पर्यटकों व तीर्थ यात्रियों से व्यवहारिक संवाद व आचरण सहित उन्हें जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने, ओवर रेटिंग व एक्सपायरी डेट वाली सामग्री की बिक्री न करने आदि कई पहलुओं में होटल व व्यापार एसोसिएशन की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान मुख्य बाजारों, नगरीय व आबादी वाले क्षेत्रों में वाहन पार्क की अनुमति नहीं मिलेगी, इससे अनावश्यक लगने वाले जाम में मदद मिलेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि किसी की निजी भूमि पार्किंग के लिए उपयोग में लाने योग्य है तो संबंधित व्यक्ति जिला प्रशासन से अनुमति लेते हुए अपनी आजीविका हेतु इसे उपयोग में ला सकता है। केदारनाथ धाम के मुख्य पड़ाव सोनप्रयाग में यात्रियों के पंजीकरण में होने वाली भीड़ को लेकर जिलाधिकारी ने होटल एसोसिएशन के पदाधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि वे यहां पहुंचने वाले तीर्थयात्रियों को व्हट्स एप आदि के माध्यम से पूर्व में ही रजिस्ट्रेशन करने का सुझाव दे सकते हैं। इससे बड़ी तादाद में लगने वाली भीड़ से राहत मिलेगी तथा यात्री को भी सुविधा होगी। उन्होंने यात्रा के दृष्टिगत एसोसिएशन की मांग पर यात्रा मार्ग में समुचित पेयजल, विद्युत, शौचालय, नेटवर्क कनैक्टिविटी, कूड़ा निस्तारण आदि को लेकर संबंधित अधिकारियों को यथाशीघ्र आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

वहीं बैठक में व्यापारियों ने एनएच विभाग के खिलाफ जमकर आक्रोश व्यक्त किया। व्यापारियों ने कहा कि केदारनाथ यात्रा के महत्वपूर्ण पड़ाव सीतापुर में ऑल वेदर का कार्य कर रही सिंगला कंपनी ने पेयजल लाइन को ध्वस्त कर दिया है। कई दिनों से पानी को लेकर स्थानीय जनता परेशान है। एनएच विभाग से शिकायत करने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की गई है, जबकि निर्माण के दौरान कंपनी ने जो वादा जनता से किया था, उसे पूरा नहीं किया है। ऐसे में स्थानीय व्यापारी खासे आक्रोशित हैं। होटल एसोसिएशन के सचिव नितिन जमलोकी ने बताया कि जिलाधिकारी को यात्रा के दौरान होने वाली विद्युत, पार्किंग एवं पेयजल की समस्याओं से अवगत कराया गया है। जिलाधिकारी ने समस्याओं के निराकरण का आश्वासन दिया है। यदि समय पर व्यवस्थाएं दुरूस्त नहीं होंगी तो तीर्थयात्रियों को भी परेशानी से जूझना पड़ेगा।

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here