Tuesday, September 27, 2022
HomeदेशJharkhand Pregnant Woman Death: रिकवरी एजेंट ने उतारा गर्भवती महिला को मौत...

Jharkhand Pregnant Woman Death: रिकवरी एजेंट ने उतारा गर्भवती महिला को मौत के घाट

Jharkhand Pregnant Woman Death: क्या गर्भवती महिला और उसके गर्भ में पल रहे अजन्में बच्चे की कीमित सिर्फ 1 लाख 20 हजार रुपये थी?

National News Desk: झारखंड में कुछ बेरहम लोगों ने एक गर्भवती महिला की हत्या कर दी। ये गर्भवती महिला एक किसान की बेटी थी जिसे सिर्फ इसलिए मौत (Jharkhand Pregnant Woman Death) के घाट उतार दिया गया क्योंकि उसके पिता को लोन के केवल 1 लाख 20 हजार रुपये चुकाने में थोड़ी देरी हो रही थी। क्या उस जच्चे बच्चे की कीमत केवल 1 लाख 20 हजार रुपये आंकी गई। एक मां और उसका अजन्मा बच्चा बेवजह कुछ बेरहमों की करनी के कारण मारे गए।

1 लाख 20 हजार रुपये चुकाने में देरी क्या हुई कि गर्भवती महिला को ही उतार दिया मौत के घाट

ये मामला झारखंड के हजारीबाग का है, जहां एक गर्भवती महिला को रिकवरी एजेंट्स द्वारा मौत के घाट उतार दिया गया। दरअसल कल यानी की 16 सितंबर को हजारीबाग से करीबन 100 किलोमीटर दूर, सिजुआ गांव में कुछ रिकवरी एजेंट्स पहुंचे। यहां ये लोग दिव्यांग किसान मिथिलेश प्रसाद मेहता के घर पहुंचे और ट्रैक्टर ले जाने लगे।

लोन के पैसे वापिस लौटाने का आश्वासन देने के बाद भी क्यों मारा गर्भवती महिला को?

दरअसल कुछ दिन पहले भी ये रिकवरी एजेंट्स मिथिलेश प्रसाद से लोन के बकाया के अलावा 12000 रुपये अतिरिक्त मांगने लगे, जिसके बाद जब मिथिलेश प्रसाद द्वारा पैसे नही दिए गए तो ये रिकवरी एजेंट्स वापिस चले गए। इसके बाद ये रिकवरी एजेंट्स कल करीबन 11 बजे फिरसे आए और ट्रैक्टर लेजाने लगे, जिसके बाद परिवार के सदस्य ट्रैक्टर के आगे खड़े हो गए और लोन की कीमत 1 लाख 20 हजार रुपये वापिस लौटाने का आश्वासन दिया।

tractor
Source: Social Media

इसके बाद रिकवरी एजेंट्स ने लोन के ऊपर से 12000 रुपये और मांगे। परिजनों द्वारा इस पर आपत्ति जताने पर फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी ने परिवार वालों को रस्ते से हटने को कहा, लेकिन परिवार वाले रस्ते से नही हटे, जिसके बाद फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी ने अपने ट्रैक्टर चालक को परिवार वालों के ऊपर से ही ट्रैक्टर चलाने को कह दिया। इसके बाद ट्रक्टर चालक ने किसान की गर्भवती बेटी (Jharkhand Pregnant Woman Death) के ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा दिया, जिसके बाद किसान की गर्भवती बेटी की मौके पर ही मौत हो गई।

गर्भवती महिला को कुचलकर भाग निकले आरोपी

गर्भवती महिला की मौत (Jharkhand Pregnant Woman Death) हो जाने पर फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी ट्रैक्टर को लेकर वहां से भाग निकले। जिसके बाद परिवार में और आस पास के इलाके में मातम छा गया। इस घटना के बाद आज यानी की शुक्रवार को आक्रोशित परिवार वाले और ग्रामीण, गर्भवती मोनिका के शव (Jharkhand Pregnant Woman Death) को इंद्रपुरी चौक स्थित महिंद्रा फाइनेंस के ऑफिस लेकर गए और वहां सभी ने आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की मांग करते हुए जमकर हंगामा किया।

झारखंड में गर्भवती महिला की मौत
Source: Social Media

गर्भवती मोनिका की मौत (Jharkhand Pregnant Woman Death) से गुस्साए लोगों ने करीबन 4 घंटों तक हंगामा किया और फिर पुलिस द्वारा गुस्साए ग्रामीणों को कड़ी कार्यवाई का आश्वासन देकर शांत कराया गया।

कंपनी के एमडी डॉ. अनीश शाह का क्या है कहना?

वहीं महिंद्रा फाइनेंस के एमडी डॉ. अनीश शाह ने इस घटना (Jharkhand Pregnant Woman Death) पर दुख जताते हुए कहा कि हम इस मुश्किल घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ हैं। इस मामले में हर तरह से जांच की जाएगी और साथ ही कंपनी भी इस मामले में पुलिस का पूरा सहयोग करेगी।  

SP मनोज रतन चौथे का बयान

इस मामले (Jharkhand Pregnant Woman Death) में एसपी मनोज रतन चौथे ने कहा कि महिंद्रा फाइनेंस कंपनी के रोशन सिंह समेत 4 कर्मचारियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। फिलहाल सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी सज़ा दी जाएगी।

इसके साथ ही एसपी मनोज रतन चौथे ने कहा कि इस तरह से फाइनेंस कंपनियों के एजेंटों द्वारा कई लोगों को काफी परेशान किया जा रहा है। ऐसे कई मामले उनके संज्ञान में आ चुके हैं, जिस प्रकार से फाइनेंस कंपनियों के एजेंटों द्वारा पैसे वसूलने के लिए लोगों से गलत तरीके से जोर जबरदस्ती की जा रही है वो सरासर गलत है। फाइनेंस कंपनियों को कई बार ये सख्त हिदायत दी गई है कि वह नियम के अनुसार ही कार्यवाई करें, अन्यथा उन्हें इसका अंजाम भुगतना होगा।   

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com

RELATED ARTICLES

Most Popular