जम्मू-कश्मीर में पकड़ा गया अलकायदा का आतंकी,रामबन पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
22
jammu -kashmir

Jammu-Kashmir में पैर पसारने की फिराक में अलकायदा, बंगाल से पहुंचा आतंकी हुआ गिरफ्तार

Jammu-Kashmir में सुरक्षाबल लगातार आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं और इसी कड़ी में सोमवार को रामबन पुलिस को यहाँ बड़ी सफलता मिली जब पुलिस ने अलकायदा के एक आतंकी को गिरफ्तार किया जिसकी पहचान अमीरुद्दीन खान के रूप में हुई और वो बंगाल का रहने वाला है।

Jammu-Kashmir में सुधरते हालात के बीच फिर से घाटी में आतंकियों का साया

jammu-kashmir

Jammu-Kashmir में सुधरते हालात के बीच एक बार फिर से आतंकियों का साया मंडराने लगा है। सामरिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रामबन के निकट अलकायदा का आतंकी पकड़े जाने के बाद से सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हो गयी हैं। अलकायदा दो दशक से कश्मीर में पैर पसारने के फिराक में है और यह पहला अवसर है कि देश के पूर्वी हिस्से से आतंकी जम्मू कश्मीर पहुंचा है और पकड़ा गया है।

अलकायदा ने पहली बार सार्वजनिक तौर पर अपनी उपस्थिती 2006 में कश्मीर में दर्ज कराई थी। हालांकि, सुरक्षा एजेंसियां लगातार अलकायदा की उपस्थिती से इंकार करते रहे हैं, लेकिन जम्मू कश्मीर पुलिस के अपने रिकार्ड के मुताबिक, अफ़ग़ानिस्तान के जलालाबाद में ओसामा बिन लादेन की निगरानी में ट्रेनिंग लेने वाला आतंकी आयुब 23 दिसम्बर 2001 में पकड़ा गया था।

ये भी पढ़ें दिल्ली-यूपी समेत भारत के 7 राज्यों में आया भूकंप, नेपाल में 6 लोगों की मौत

Jammu-Kashmir में अलकायदा के लिए हरकत-उल-अनसार और हरकत उल जिहादी करते हैं काम

रक्षा मामलों के विशेषज्ञ डॉ अजय ने कहा कि श्रीनगर में विधानसभा भवन पर 2001 में हुए हमले को जाऐश ए मोहम्मद ने अंजाम दिया था लेकिन बाकी सब सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक यह काम अलकायदा का था। Jammu-Kashmir में पकड़े गए आतंकी ने नई दिल्ली में विदेशी पर्यटकों पर हमले के षड्यंत्र के बारे में भी बताया। जम्मू कश्मीर में हरकत-उल-अनसार और हरकत उल जिहादी जैसे कट्टर संगठन अलकायदा के लिए ही काम करते हैं।

जम्मू कश्मीर शुरू से ही अलकायदा के निशाने पर रहा है। बंगाल और दक्षिण भारत के कुछ राज्यों में इस्लामिक जिहादी मानसिकता का प्रचार बहुत तेजी से हो रहा है और यहाँ कई लोग इंटरनेट के माध्यम से विश्व भर में आतंकी संगठनों से संपर्क बनाए हुए हैं और इसलिए वो अगर जम्मू कश्मीर का रुख करते हैं तो इसमें हैरानी वाली बात नहीं क्योंकि शुरू से ही कश्मीर उनके एजेंडे मे सबसे ऊपर है। बस हमें चौकस रहने है और हमारी सुरक्षा एजेंसियां हर स्थिति से निपटने में सक्षम हैं।

For Latest National News Subscribe devbhoominews.com