हिंसा से पहले रची गयी थी साजिश?, शिवमोगा में तनाव के बाद बढ़ी सुरक्षा

0
246
हिंसा में आरोपी

कर्नाटक के शिवमोगा में हिंसा से पहले क्या रची गई थी साजिश को लेकर आज कर्नाटक पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है, जिसमें आया है कि गिरफ्तार किया गया कि रची गई साजिश का आरोपी नदीम पहले भी सांप्रदायिक हिंसा में आरोपी रहा है। बताया जा रहा है कि 2016 में भी नदीम ने गणेश चतुर्थी के दौरान गणेश विसर्जन यात्रा में हिंसा फैलाई थी। इस रची गई साजिश को लेकर आज तक कर्नाटक पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है।

शिवमोगा में सुरक्षा कड़ी की गयी 

इस वक्त शिवमोगा टाउन में करीब 1000 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किये गए हैं। आगे कर्नाटक पुलिस ने बताया कि गणेश चतुर्थी के मद्देनजर फिलहाल सिक्योरिटी और मजबूत की जा रही है, ताकि आने वाले दिनों में रची गई साजिश के तहत कोई और सांप्रदायिक हिंसा न हो। कर्नाटक पुलिस के ADGP आलोक कुमार ने इलाके का जायजा लिया और संवेदनशील इलाकों में बैरिकेडिंग करवा दी है।

क्या हिंसा पहले से प्लांड थी

कर्नाटक पुलिस द्वारा बताया जा रहा है कि इस रची गई साजिश के तहत हुई हिंसा में चाक़ू से जिस प्रेम सिंह नाम के व्यक्ति पर हमला हुआ था, वह राजस्थान से है और शिवमोगा में कपड़े का कारोबारी है। कर्नाटक पुलिस ने कन्फर्म किया है ,कि उसका पोस्टर विवाद [वीर सावरकर पोस्टर ]से कोई लेना देना नहीं था, फिर भी रची गई साजिश के तहत हुई हिंसा को आरोपियों ने उस पर हमला किया। कर्नाटक पुलिस ने जेसी नगर निवासी 25 वर्षीय नदीम और बुद्ध नगर निवासी 25 वर्षीय अब्दुल रहमान को गिरफ्तार किया है और उन पर हत्या का मुक़दमा दर्ज किया है। कर्नाटक पुलिस अब यह पता लगाने कि कोशिश कर रही है कि क्या इन आरोपियों के लिंक PFI से जुड़े हैं और कर्नाटक पुलिस को यह भी शंका है कि यह हिंसा रची गई साजिश के तहत हुई थी।

शिवमोगा का ये है पूरा मामला

जैसा कि मालूम हो कि कर्नाटक के शिवमोगा में स्थानीय आमिर अहमद सर्किल पर हिंदुत्व के प्रतीक विनायक दामोदर सावरकर [वीर सावरकर]और मैसूर के शासक टीपू सुल्तान का पोस्टर लगाने को लेकर दो समूहों में विवाद हो गया था और माहौल तनावपूर्ण हो गया, इसके बाद कर्नाटक पुलिस के अधिकारियों को कर्फ्यू लगाना पड़ा था। वहीं शिवमोगा के कमिश्नर आर सेल्वमाणि ने मंगलवार को पूरे शहर में स्कूल और कॉलेज बंद करने का भी आदेश जारी किया है। उन्होंने कहा कि 18 अगस्त तक कर्फ्यू लागू रहेगा। फ़िलहाल तनाव के बाद स्थिति नियंत्रण में है।