ज्वेलर्स शॉप से लूटा हुआ माल बांटने आए 6 डकैत पुलिस ने दबोचे, ऐसे बनाई थी लूट की योजना

0
377
ज्वेलर्स शॉप से लूट हुआ माल बांटने आए 6 डकैत पुलिस ने दबोचे, ऐसे बनाई थी लूट की योजना

ज्वेलर्स शॉप से लूटा हुआ माल बांटने आए 6 डकैत पुलिस ने दबोचे, ऐसे बनाई थी लूट की योजना

हरिद्वार, ब्यूरो। हरिद्वार के शिवालिक नगर में अमन ज्वैलर्स में 8 जून को 6 हथियारबंद बदमाशों ने दुकान स्वामी को घायल कर दिनदहाड़े डकैती की घटना को अंजाम दिया था। इस वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने घटना में शामिल 6 अभियुक्तों को माल सहित गिरफ्तार कर लिया है। जबकि डकैती के दौरान दुकानदार और उसके साथियों ने मौके पर ही एक बदमाश को अवैध हथियार के साथ पकड़कर कर पुलिस को सौंप दिया था। घटना का खुलासा करते हुए हरिद्वार एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर रायसी रोड़ लक्सर के बालावाली पुल से पहले पांचों अभियुक्तों को उस वक्त पकड लिया जब लूट के माल के बंटवारे के लिये एकत्र हुए थे।

लूटा गया ये माल और बाइक भी बरामद 

पकडे गये अभियुक्तों से लूटे गये सोने, चांदी के आभूषण और लूट में इस्तेमाल की गयी मोटरसाईकिले भी बरामद कर ली गई हैं। पकड़े गए अभियुक्त आमिश उर्फ पव्वा पुत्र रहीस निवासी लोको कालोनी कोतवाली लक्सर, गोतम पुत्र सुभाष निवासी चांदपुर फेरु कोतवाली बिजनौर जनपद बिजनौर, तस्व्वर पुत्र दिलखुश निवासी ग्राम दौडबसी थाना लक्सर, अमर सिंह पुत्र विजय सिंह निवासी चांदपुर फेरु कोतवाली बिजनौर, आकाश उर्फ बल्लू पुत्र धर्मसिंह निवासी चांदपुर फेरु कोतवाली बिजनौर, नितिन पुत्र राकेश निवासी हरिपुर थाना पुरकाजी (पूर्व में गिरफ्तार), विकाश पुत्र विजय निवासी मुल्किनगर थाना सिड़कुल पूर्व में भी अपने दूसरे साथियों के साथ जिले में कई वाहन चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। जिनमें सिडकुल हरिद्वार निवासी विकास इनका मुख्य सहयोगी है। पकड़े गए अभियुक्तों की निशानदेही पर 8 मोटर साइकिलें भी बरामद की गयी हैं और इनका पूर्व में आपराधिक इतिहास भी रहा है जिसकी जानकारी जुटाई जा रही है।

ज्वेलर्स शॉप से लूट हुआ माल बांटने आए 6 डकैत पुलिस ने दबोचे, ऐसे बनाई थी लूट की योजना

अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि 8 जून 2022 को शिवालिक नगर में सुनार की दुकान में तमंचे के बल पर डकैती डाली थी। डकैती डालने के समय हमारे एक साथी नितिन को लोगों ने पकड़ लिया था और हम घबराकर मोटरसाइकिलो से अलग-अलग दिशाओं में भाग गए थे। उसके बाद से हम पुलिस के डर से इधर-उधर छिपते फिर रहे थे। इस कारण हमने लूटा हुआ माल भी आपस में बांटा नहीं था। इसीलिए आज हम यहां सुनार की दुकान से लूटा हुआ माल का बंटवारा करने आए थे। अभियुक्तों ने यह भी बताया कि डकैती की योजना बनाने में उनके साथ दीपक उर्फ पोलार्ड पुत्र राजेंद्र निवासी हरी नगर थाना पुरकाजी मुजफ्फरनगर तथा विकास पुत्र विजय निवासी मुल्कीनगर थाना सिडकुल हरिद्वार उनके साथी थे। विकास और दीपक उर्फ पोलार्ड ने ही सुनार की दुकान को सबसे पहले चिन्हित किया था। फिर हम लोगों ने भी दुकान की निगरानी की थी। हम लोग गाड़ियों की चोरी भी करते थे।  8 जून 2022 को तमंचे के बल पर डकैती डालने की घटना करना कबूल किया गया है एवं अभियुक्तगणों से डकैती में लूटी गई ज्वेलरी तथा वादी मुकदमा 290/2022 धारा 395, 397,506 भादवी में लूटा गया वादी का विवो 5जी मोबाइल बरामद हुआ है।

अभियुक्तों से उनके द्वारा प्रयोग की जा रही मोटरसाइकिलों के संबंध में पूछने पर अमर ने बताया कि डकैती की घटना करने के लिए उसकी पल्सर एनएस 125 प्रयोग किया गया था तथा तसव्वर ने बताया कि उसके पास जो अपाचे मोटरसाइकिल है वह भी डकैती की घटना करने के लिए प्रयोग की थी लेकिन वह उसकी अपनी मोटरसाइकिल नहीं है उसके जीजा शौकीन की मोटरसाइकिल है गौतम द्वारा प्रयोग की जा रही मोटरसाइकिल स्प्लेंडर प्लस UP 20 BY 7387 है के बारे में पूछने पर गौतम ने बताया कि उसने यह मोटरसाइकिल बिजनौर से चोरी करी थी एवं आमिष और पव्वा दवारा प्रयोग की गई मोटरसाइकिल हीरो स्प्लेंडर प्लस HR 60K1889 के बारे में पूछने पर बताया कि उसने अपने दोस्त विकास के साथ मिलकर सेक्टर 4 पीठ बाजार से यह मोटरसाइकिल चोरी करी थी। मोटरसाइकिल स्प्लेंडर प्लस UP 20 BY 7387 के संबंध में थाना कोतवाली बिजनौर से जानकारी करने पर ज्ञात हुआ कि उक्त मोटरसाइकिल चोरी के संबंध में थाना कोतवाली बिजनौर में मुकदमा अपराध संख्या 194/2022 धारा 379 पंजीकृत है। एवं अभियुक्त आमिष और पव्वा से बरामद मोटरसाइकिल हीरोस्प्लेंडर प्लस HR 60 K1889 के संबंध में थाना रानीपुर से जानकारी करने पर ज्ञात हुआ कि उक्त मोटरसाइकिल चोरी के संबंध में थाना रानीपुर पर मु0अ0सं0 282, 2022 धारा 379 आईपीसी पंजीकृत है। मोटरसाइकिल अपाचे तथा पल्सर एनएस 125 दोनों मोटरसाइकिल डकैती की घटना कार्य करने में प्रयोग की गई हैं। घटना के बाद हम लोग अलग-अलग रास्ते से भाग गये थे तीन चार दिन बाद माल बंटवारे के लिये बालावाली के पास एकत्र होना था। अभियुक्तगणों द्वारा यह भी बताया गया कि उनकी इस योजना में सराय ज्वालापुर के एक अनिल नाम के व्यक्ति द्वारा मदद की गयी है जो इन्ही के गिरोह का साथी है। अनिल एंव दीपक के सम्बन्ध में शीघ्र ही वैधानिक कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

बरामद माल 
1- सोने की कान की बालियां 40 नग
2- चांदी के 02 कड़े
3- 20 नग नोज रिंग सोना
4- 20 नग नोज पिन सोना
5- 01 जोड़ी पायल चांदी
6- 09 नग चांदी की बाली
7- 02 पैंड़ेड़ सोने की
8- सोने की 34 नोज पिन
9- वादी से लूटा गया मोबाईल फोन वीवो
10- 01 एक चेन सोने की
11- 01 सोने का मंगल सूत्र
12- 01 सोने का कड़ा
13- 03 अदद देशी तमंचे
14- घटना में प्रयुक्त की गयी 02 मोटर साईकिल अपाचे तथा प्लसर
15- अन्य चोरी की 08 मोटर साईकिल