गाजियाबाद निर्भया कांड निकला झूठ, महिला ने आरोपियों को फंसाने के लिए आजाद संग रची थी साजिश

0
62
Ghaziabad rape case update
Ghaziabad rape case update

Ghaziabad rape case update

हाल ही में एक मामला सामने आया था कि दिल्ली से सटे गाजियाबाद में निर्भया कांड जैसी दरिंदगी दोहराई गई।बताया गया था कि यहां नन्द ग्राम क्षेत्र के आश्रम रोड पर युवती से 5 लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया, उसके गुप्तांगो में रॉड घुसाई और फिर बोरी में भरकर उसे सड़क पर फेंक दिया। लेकिन ये बात सरासर झूठ निकली दरअसल युवती और उसके दोस्त ने निर्भया जैसे कांड की झूठी कहानी बनाई और कदम कदम पर झूठ का सहारा लिया लेकिन मोबाइल फोन ने इस झूठ का पर्दाफाश कर दिया।

Ghaziabad rape case update : प्रोपर्टी विवाद के चलते रची थी साजिश

Ghaziabad rape case update
Ghaziabad rape case update

गाजियाबाद पुलिस के अनुसार पीड़ित के जानने वाले आजाद नाम के एक व्यक्ति ने महिला के साथ मिलकर प्रॉपर्टी विवाद के चलते आरोपियों को फंसाने के लिए सनसनीखेज और फर्जी कहानी रची थी।

Ghaziabad rape case update
Ghaziabad rape case update

दरअसल FRI में आरोप था कि 16 अक्टूबर को आश्रम रोड़ से युवती का अपहरण किया गया लेकिन पुलिस का दावा है कि अपहरण नहीं हुआ था, नर्स ऑटो से अपने घर दिल्ली पहुंची थी, वहीं कहा गया था कि पांचों युवकों ने बारी बारी से दुष्कर्म किया। दो दिन तक बंधक बनाकर रखा गया लेकिन नामजद पांचो युवकों की लोकेशन गाजियाबद में नहीं मिली वे सभी अलग अलग जगह पर थे। ये भी कहा गया था कि जंगल में 5 ने दुष्कर्म किया, प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई,रॉड की कहानी झूठी निकली,लोहे का एक तार मिला था जो युवती ने खुद रखा था। वहीं ये भी कहा गया था कि बोरी में बंद करके 18 की सुबह आरोपी ने युवती को आश्रम रोड़ पर फेंक दिया था ताकि उसकी मौत हो जाए गिरफ्तार युवकों के साथ 18 की रात ही अल्टो कार से दिल्ली आई थी युवती, बोरी में आजाद ने किया था बंद।

वहीं आईजी जोन प्रवीण कुमार का कहना है कि जब यूपी 112 को घटना की सूचना मिली तो महिला को त्वरित कार्रवाई करते हुए जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां युवती ने मेडिकल कराने के लिए इनकार कर दिया, इसके बाद महिला को मेरठ मेडिकल के लिए रेफर किए जाने की बात डॉक्टर ने कही, लेकिन महिला ने इसके लिए भी मना कर दिया और दिल्ली के जीटीबी अस्पताल ले जाने को कहा, जिसके बाद महिला का पुलिस द्वारा इलाज करवाया गया।

Ghaziabad rape case update : मोबाइल कॉल से हुआ मामले का खुलासा

वहीं इस पूरी घटना के बाद जांच के दौरान पता चला कि महिला का एक जानकार आजाद नाम के व्यक्ति का मोबाइल नंबर बंद जा रहा है जिसके बाद पुलिस आजाद तक पहुंची और आजाद ने बाद में स्वीकार किया कि महिला का आरोपियों के साथ प्रोपर्टी का विवाद चल रहा था। जिसके चलते उन्होंने ये साजिश रची। ताकि वे जेल चले जाएं।

ये भी पढे़ं : पीएम मोदी पहुंचे बाबा केदार के धाम, 20 कुंतल फूलों से सजाया गया मंदिर