इन कॉलेजों से होगी जियो फेंसिंग हाजिरी सिस्टम की शुरूआत

0
137
geofencing attendance system

Uttarakhand Devbhoomi Desk: उत्तराखंड डिग्री कॉलेजों में प्रोफेसर एवं छात्रों की हाजिरी के लिए जियो फेंसिंग सिस्टम लागू किया जा रहा है। उच्च शिक्षा विभाग ने सबसे पहले जियो फेंसिंग से हाजिरी देहरादून के रायपुर पीजी कॉलेज और हल्द्वानी के एमबी पीजी कॉलेज (geofencing attendance system) में शुरू करने के आदेश जारी कर दिए हैं। बता दें कि दूर दराज के डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों और छात्रों की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए इस हाजिरी सिस्टम को लागू किया गया है।

यह भी पढ़ें:
Dhami government cabinet meeting
धामी सरकार की कैबिनेट बैठक कल, इन महत्वपूर्ण मुद्दों पर होगी चर्चा

प्रदेश के तमाम इलाकों के डिग्री कॉलेजों में बायोमीट्रिक या रजिस्टर (geofencing attendance system) पर हाजिरी हमेशा से ही विवादों में रही है। कहीं बायोमीट्रिक मशीनें काम नहीं करती तो कहीं रजिस्टर पर बाद में हाजिरी लगती है। इसमें बदलाव करने के लिए ही सरकार ने ये फैसला लिया है।

अब जियो फेंसिंग के तहत जो भी शिक्षक या छात्र कॉलेज परिसर (geofencing attendance system) में प्रवेश करेगा तो उसके मोबाइल से ही उसकी हाजिरी लग जाएगी। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर यह शुरुआत देहरादून और हल्द्वानी के कॉलेजों में होगी। यहाँ सफल होने के बाद इसे अन्य कॉलेजों में भी लागू किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें:
Jharkhand crime news
एक बार फिर ‘श्रद्धा’ जैसा हत्याकांड: लोहे काटने की मशीन से किए शव के टुकड़े-टुकड़े

geofencing attendance system: कैसे लगेगी हाजिरी

इसके लिए सबसे पहले मोबाईल में जियो फेंसिंग हाजिरी का ऐप डाउनलोड (geofencing attendance system) करना पड़ेगा। फिर जब कोई शिक्षक या छात्र अपने मोबाइल के साथ कैंपस में प्रवेश करेंगे तो उन्हें ये हाजिरी का ऐप खोलना होगा। फिर इसे फीड करेंगे तो ही हाजिरी लग सकेगी। जैसे ही छात्र, शिक्षक उस कैंपस से बाहर जाएंगे तो उनका रिकॉर्ड स्वत: ही अपडेट हो जाएगा।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.co