दुधमुंहे बच्चे को लेकर फरार बांग्लादेशी महिला और उसका पति अरेस्ट, यहां बेचने की थी तैयारी

रुद्रपुर, ब्यूरो। तीन दिन पहले तीन माह के मासूम बच्चे को लेकर फरार लिव इन में कई लोगों के साथ रह चुकी एक बांग्लादेशी महिला फरार हो गई थी। पुलिस ने आरोपी महिला को बुलंदशहर उत्तर प्रदेश से अरेस्ट कर लिया है। पुलिस ने महिला के कथित पति को भी अरेस्ट कर लिया है। पुलिस के अनुसार महिला और उसका पति इस दुधमुंहे बच्चे को कोलकाता में बचेने की तैयारी कर रहे थे।

बता दें कि आज एसएसपी ऊधमसिंहनगर डाॅ. मंजूनाथ टीसी ने इस मामले का खुलासा करते हुए मीडिया को बताया कि तीन दिन पहले मंगलवार दोपहर सतुईया थाना पुलभट्टा ऊधमसिंहनगर निवासी प्रेमचंद्र पुत्र विरेंद्र पाल के तीन माह के दुधमुंहे बच्चे प्रतीक को प्रेमचंद्र के भाई उमेश के साथ लिव इन में रहने वाली महिला ज्योति उर्फ नैना किडनैप कर फरार हो गई थी। मामला संज्ञान में आने और तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी थी।

पुलिस ने मुखबीर तंत्र के साथ ही मोबाइल फोन सर्विलांस आदि जांच की तो पता चला कि अपहरण करने वाली महिला इलाके के कई लोगों के लिव इन में रह चुकी है। करीब तीन साल से वह किच्छा के एक होटल में काम करने वाले सूरज के साथ शादी कर अनूपशहर बुलंदशहर उत्तर प्रदेश में रह रही थी। मामले में पुलिस ने तफ्तीश की तो सूरज की लोकेशन बुलंदशहर निकली। एसओ पुलभट्टा विद्यादत्त जोशी की अगुवाई में टीम बुलंदशहर उत्तर प्रदेश भेजी गई। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने तीन माह के मासूम प्रतीक को बरामद करने के साथ ही बांग्लादेशी महिला ज्योति उर्फ नैना और उसके कथित पति सूरज पुत्र भगवान स्वरूप निवासी राजू नगला बहेड़ी जनपद बरेली हाल निवासी वार्ड नंबर 9 अनूपशहर बुलंदशहर उत्तर प्रदेश को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि मासूम दुधमुंहे बच्चे को किडनैप करने वाली ज्योति मूल रूप से बंग्लादेश की रहने वाली है। वह बंग्लादेश से अपने मामा के पास ग्राम पानी खली मजदिया थाना धंतला जनपद नादिया पश्चिम बंगाल आकर रहने लगी थी। उसने पुलिस को बताया कि उसकी पहली शादी बिहार निवासी चेतू नामक व्यक्ति से हुई थी। उसके बाद उसने किच्छा, बहेड़ी सहित अन्य इलाकों में कई लोगों के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रही। पिछले तीन वर्ष से वह सूरज के साथ अनूपशहर बुलंदशहर में रह रही थी।