अंकिता हत्याकांड : रिसॉर्ट कर्मचारियों ने उठाया पुलकित के एक और राज से पर्दा

0
507
Ankita Murder Case 
Ankita Murder Case 

Ankita Murder Case 

अंकिता हत्याकांड में SIT, 800 अधिक मोबाइल नंबरों को भी खंगाल रही है। ये वो मोबाइल नंबर हैं जो अंकिता की हत्या के 24 घंटे पहले और 24 घंटे बाद तक चीला नहर क्षेत्र में सक्रिय थे।

एसआईटी ये पता लगाने का प्रयास कर रही है कि आरोपितों ने घटना वाले दिन, उससे पहले या बाद में संबंधित क्षेत्र में किस किससे बाचतीत की है। ताकि कड़ी से कड़ी को जोड़कर हर रहस्य की तह तक पहुंचा जा सके।

एसआइटी की ओर से जांच में लगाई गई एसटीएफ की सर्विलांस टीम अपने स्तर पर जांच कर रही है। एसआइटी को अभी तक पुलकित, सौरभ भास्कर और अंकित गुप्ता के मोबाइल मिल चुके हैं।

Ankita Murder Case पुलकित के पास देखे जाते थे 3 मोबाइल

Ankita Murder Case 
Ankita Murder Case

टीम के पास अभी तक ये जानकारी है कि पुलकित के पास एक मोबाइल है। वहीं रिसॉर्ट कर्मचारियों की माने तो उसके पास अक्सर तीन मोबाइल देखे जाते थे।

अंकिता हत्याकांड में एसआइटी इलेक्ट्रानिक साक्ष्यों की जांच से घटनास्थल की पुष्टि कर चुकी है। अब एसआइटी के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती पुलकित के उन वीआइपी मेहमानों का पता लगाना है, जिनको वनन्तरा रिसॉर्ट में स्पेशल सर्विस देने के लिए अंकिता पर दबाव डाला जा रहा था।

जिस रोज अंकिता भंडारी की हत्या हुई थी उस रोज वनन्तरा रिसॉर्ट और घटनास्थल चीला नहर के आसपास एक्टिव मोबाइल नंबर का डाटा सर्विलांस टीम के एक्सपर्ट ने संबंधित मोबाइल कंपनियों को भेजा है।

जिससे हत्याकांड से जुड़े नंबरो के संबंध में कोई ठोस जानकारी मिल सके। इस दौरान कितने मोबाइल नंबर कुछ समय के लिए थे, इसकी अलग से सूची तैयार की जा रही है।

ये भी पढ़ें : अंकिता हत्याकांड: चीला बैराज से मिला मोबाइल फोन, खुल सकते हैं कई राज