मेडिकल काॅलेज में मरीज के उपचार के दौरान भिड़े डाॅक्टर, एक ने दूसरे को 10 दोस्तों के साथ धूना

0
222
मेडिकल काॅलेज में मरीज के उपचार के दौरान भिड़े डाॅक्टर, एक ने दूसरे को 10 दोस्तों के साथ धूना

अल्मोड़ा, ब्यूरो। उत्तराखंड के अल्मोड़ा मेडिकल काॅलेज में जूनियर रेजीडेंट डाॅक्टर की कुछ डाॅक्टरों ने मिलकर धुनाई कर दी। जानकारी के अनुसार इमरजेंसी ड्यूटी की काॅल पर आया जूनियर रेजीडेंट डाॅ. रोहित मेहरा एक तीन साल के मरीज का प्लास्टर लगा रहे थे। इस दौरान एक और डाॅक्टर भी वहां पहुंच गए। मरीज के उपचार को लेकर दोनों में कहा-सुनी के बाद मारपीट हो गई। जूनियर रेजीडेंट डाॅ. रोहित मेहरा का आरोप है कि अपने साथियों के साथ मिलकर उससे मारपीट की गई है। बाद में किसी तरह अन्य लोगों ने हस्तक्षेप कर डाॅक्टर रोहित मेहरा को बचाया। वहीं, पुलिस और मेडिकल काॅलेज प्रशासन भी मामले की जानकारी होने की बात कह रहे हैं। लेकिन, पुलिस को अभी तक किसी भी पक्ष की कोई एफआईआर नहीं मिली है। ऐसे में पुलिस फिलहाल तहरीर मिलने पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कह रही है। इस मारपीट के मामले के संबंध में अल्मोड़ा कोतवाल ने बताया कि फोन से मेडिकल कालेज में मारपीट की सूचना मिली है। फिलहाल किसी पक्ष ने मुकदमा दर्ज नहीं कराया है।

मेडिकल काॅलेज में मरीज के उपचार के दौरान भिड़े डाॅक्टर, एक ने दूसरे को 10 दोस्तों के साथ धूना

मेडिकल काॅलेज में मरीज के उपचार के दौरान भिड़े डाॅक्टर, एक ने दूसरे को 10 दोस्तों के साथ जमकर धूना

बता दें कि मेडिकल कालेज अल्मोड़ा में अस्थि रोग विभाग में डा. रोहित मेहरा जूनियर रेजीडेंट हैं। उन्हें इमरजेंसी काॅल पर रात के समय बुलाया गया था। आरोप है कि वह एक तीन साल के बच्चे का प्लास्टर कर रहे थे। इस दौरान एक और डाॅक्टर कमरे में घुस आया। दोनों डाॅक्टरों में मरीज के उपचार को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि आरोपी डाॅक्टर ने अपने दस और डाॅक्टर दोस्त बुला लिए। इसके बाद डा. रोहित मेहरा को आरोपी डाॅक्टर के 10 जूनियर रेजीडेंट दोस्तों ने जमकर धून दिया। किसी तरह आस-पास के लोगों ने बीच बचाव कर डा. रोहित मेहरा को हमलावरों से छुड़वाया गया। इसके बाद डाॅक्टर का जिला अस्पताल अल्मोड़ा में मेडिकल किया गया। अल्मोड़ा मेडिकल कालेज के प्राचार्य प्रो. सीपी भैसोड़ा ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है, इसकी पूरी जानकारी ली जाएगी। जो दोषी पाया गया उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।