जांबाज बेटियांः यमुना में डूब रहे चार युवकों को बचाने कूदीं, जान पर खेलकर बचाया

0
185
जांबाज बेटियांः यमुना में डूब रहे चार युवकों को बचाने कूदीं, जान पर खेलकर बचाया

आगरा, ब्यूरो। अक्सर युवतियों को युवकों से कमजोर समझा जाता है लेकिन, आगरा की इन जांबाज बेटियों ने कुछ ऐसा किया कि इन पर हर कोई गर्व कर रहा है। इन बेटियों ने अपनी जान पर खेलकर यमुना नदी में छलांग लगाकर डूब रहे चार युवकों को बचा लिया। गांव की इन बेटियों की बहादुरी और सासह को हर कोई याद कर रहा है। इसके साथ ही पुलिस विभाग यह साहसिक कार्य करने के लिए तीनों बेटियों को सम्मानित करने की बात भी कर रहा है। थानाध्यक्ष बहादुर सिंह का कहना है कि युवतियों ने अपनी जान पर खेल कर युवकों की जान बचाई है। इस पर युवतियों का सम्मान किया जाएगा। उन्हें अधिकारियों से प्रशस्ति पत्र दिलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि तीनों युवतियां अभी पढ़ाई कर रही हैं। बता दें कि इस घटना का आस-पास के लोगों ने वीडियो भी बनाया है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी हो रहा है। इसमें युवतियां पानी में से युवकों को बाहर लेकर आती दिख रही हैं। लोगों की आवाज भी सुनाई पड़ रही है। युवतियों के साहस को हर कोई सलाम कर रहा है।

जांबाज बेटियांः यमुना में डूब रहे चार युवकों को बचाने कूदीं, जान पर खेलकर बचाया

दरअसल, आगरा के डौकी क्षेत्र स्थित यमुना किनारे के गांव महल बादशाही की युवतियों ने अपनी जान की बाजी लगाकर चार युवकों को नई जिंदगी दी है। गांव के सतीश वर्मा ने बताया कि गंगा दशहरा पर गांव बुढ़ाना के चार युवक गांव में यमुना में नहाने आए थे। पहले किनारे पर खड़े होकर नहा रहे थे। नहाते-नहाते चार युवक गहरे पानी में पहुंचने के बाद डूबने लगे। किनारे पर गांव के कई लोग खड़े थे। गांव की रहने वाली मिथिलेश, आशा और रश्मि किनारे पर खड़ी थीं। उन्होंने चारों युवकों को डूबते देखा। वह तैरना जानती थीं इसलिए बचाने के लिए यमुना में छलांग लगा दी। इसके बाद ग्रामीण भी जुट गए। वह भी यमुना में कूद गए। थोड़ी देर में देखते ही देखते तीनों युवतियां चारों युवकों को बाहर निकाल लाईं। ग्रामीणों ने चारों को होश में लाने में सहयोग किया। युवकों के परिजनों ने युवतियों का आभार जताया।