दिल्ली, ब्यूरो : ( Norway) नार्वे में एक 3 हजार साल पुराना जूता मिला है, बर्फ पिघलने पर ये जूता मिला है। ये जूता कांस्य युग यानी Bronze Age का बताया जा रहा है। जूते को खोजने वाले शोधकर्ताओं की माने तो यह जूता करीब 1100 ईसा पूर्व का है, जो नॉर्वे का सबसे पुराना जूता हो सकता है। नार्वे की Norwegian University of Science and Technology ने इसे लेकर रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार यह जूता उन हजारों प्राचीन कलाकृतियों में से एक है, जो पिछले दो दशकों में यहां पहाड़ियों पर जमी बर्फ के पिघलने पर पाई गई थीं। यह प्राचीन जूता, असल में 2007 में दक्षिणी नॉर्वे के जोतुनहेमेन के पहाड़ी इलाके से मिला था। इस जूते के साथ कई तीर और एक लकड़ी का कुदाल भी मिला था, जिससे पता चलता है कि यह इलाका शिकार का मैदान हुआ करता था.

ये भी पढ़े-युवती का अजब गजब दावा : मैं माता पार्वती हूं,शिव से शादी करने आई हूं, प्रशासन की नाक में किया दम

थानेदार और सिपाही में ही हो गई जमकर ‘जूत पतरम’, SSP ने दोनों को किया निलंबित

नार्वे में मिला 3000 साल पुराना जूता

वहीं कुछ ही दशकों में नॉर्वे के बर्फ के बड़े हिस्से पिघलना शुरू हो गए हैं। Norwegian University of Science and Technology के एक पुरातत्वविद् और एसोसिएट प्रोफेसर बिरगित स्कार के अनुसार 2020 में ली गई सैटेलाइट तस्वीरों के आधार पर सर्वे किया गया था। जिससे पता चलता है कि 10 चुने हुए बर्फ के पैच में से 40 प्रतिशत से ज्यादा पिघल गए हैं। बता दें कि विशाल ग्लेशियरों के नीचे दबी हुई चीजों से नॉर्वे की पहाड़ियों पर बर्फ के पैच से मिली चीजों की स्थिति, हजारों सालों के बाद भी अच्छी है। लेकिन  नई रिपोर्ट की माने तो अब जलवायु परिवर्तन ये सब खत्म कर सकता है। बता दें कि लाइव साइंस ने अपने ट्वीटर पर जानकारी दी है कि नार्वे में 3 हजार  साल पुराना जूता मिला है,  जिसमें बताया गया है कि बर्फ पिघलने पर ये जूता मिला है।