देहरादून। (स्टेट हेड- पंकज गैरोला): शुक्रवार रात से प्रदेश में हर किसी के मुंह पर बस एक ही नाम है। वो है हरक सिंह रावत। कैबिनेट बैठक से हरक सिंह रावत नाराज होकर निकले लेकिन गये कहां ये कोई बता नहीं पा रहा है। बीजेपी नेता कह रहे हैं कि हरक सिंह रावत की नाराजगी दूर हो गई, लेकिन ये अब तक हरक सिंह रावत ने क्यूं नहीं कहा।

कहते हैं ना बात निकली है तो दूर तलक जायेगी। यही देखने को मिल रहा है उत्तराखंड बीजेपी में। हरक सिंह की नाराजगी दूर होने के बाद अब नई चर्चाओं ने जन्म दे दिया है कि कहां है हरक सिंह रावत। सोशल मीडिया में तो बहस शुरू हो गई है। बीजेपी नेताओं पर भरोसा करें तो उन का कहना है कि हरक सिंह रावत की नाराजगी दूर हो गई है। उनकी मेडिकल कॉलेज की मांग मान ली गई है। लेकिन कोई ये नहीं बता पा रहा है कि हरक सिंह रावत हैं कहां। यहां तक की उनके खासमखास भी नहीं बता पा रहे कि वे कहां है। हमारी टीम के उनके बेहद करीबी व्यक्ति से बात हुई उन्होंने नाम न बताने पर हमारी टीम को बताया कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष भी फोन घनघना रहे हैं कि हरक सिंह रावत कहां हैं। वहीं मंत्री सुबोध उनियाल और धन सिंह रावत उनके डिफेंस कॉलोनी आवास उनकी नाराजगी दूर करने गए, पर उन्हें खाली हाथ ही लौटना पड़ा। वे ना तो यमुना कॉलोनी आवस पर हैं और ना ही डिफेंस कॉलोनी वाले आवास पर। अटकलें लग रही हैं कि वे दिल्ली चले गये हैं। लेकिन साथ में कौन है ये भी पता नहीं। उनके कांग्रसे में जाने की चर्चा भी जोरों पर है। लेकिन उनकी कांग्रेस के साथी भी तो देहरादून में डेरा डाले हैं, उन्हें भी इस मामले की कोई जानकारी नहीं है। अब इन सभी कायासों पर तभी विराम लगेगा जब  वे खुद सामने आयेंगे। लेकिन एक बात तो साफ है कि हरक सिंह रावत के मन कुछ जरूर चल रहा है और वे ऐसे ही उत्तराखंड के कदावर नेता नहीं बने।

https://devbhoominews.com Follow us on Facebook at https://www.facebook.com/devbhoominew…. Don’t forget to subscribe to our channel https://www.youtube.com/devbhoominews

Leave your comment

Your email address will not be published.