लंबे समय से बीमार चल रहे BJP के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री का निधन

0
244

Dehardun: BJP के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे केदार सिंह फोनिया का निधन हो गया है। वह 92 वर्ष के थे। नेहरू कालोनी निवासी फोनिया पिछले लंबे समय से बीमार चल रहे थे। शुक्रवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। केदार सिंह फोनिया उत्तराखंड की राजनीति (Uttarakhand Politics) में दो दशक से भी ज्यादा समय तक सक्रिय रहे। फोनिया ने उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलन में भी अपनी अहम भूमिका निभाई थी।

Uttarakhand Politics: CM धामी ने व्‍यक्‍त किया दुख

केदार सिंह फोनिया के निधन की खबर से प्रदेश भाजपा में शोक की लहर है। CM पुष्कर सिंह धामी ने उनके निधन पर शोक जताया। उन्होंने ट्वीटर पर पोस्ट करते हुए लिखा ‘भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री श्री केदार सिंह फोनिया जी के निधन का समाचार अत्यंत दुःखद  है। भगवान परिवार को यह असीम कष्ट सहन करने की शक्ति प्रदान करें।’

Uttarakhand Politics: विस अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने भी व्‍यक्‍त किया दुख

Uttarakhand Politics

Uttarakhand Politics: विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पार्टी संगठन एवं राज्य के विकास में फोनिया जी का योगदान हमेशा अविस्मरणीय रहेगा। वे एक समर्पित जन नेता के तौर पर सदैव याद किए जाएंगे। विधानसभा अध्यक्ष ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति, शोकाकुल परिवार तथा समर्थकों को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है।

Uttarakhand Politics: केदार सिंह फोनिया पहली बार लड़ा था निर्दलीय चुनाव

Uttarakhand Politics

केदार सिंह फोनिया ने 1969 में पहली बार विधानसभा के लिए निर्दलीय चुनाव लड़ा था, लेकिन वे हार गए थे। फिर वह 1991 में विधानसभा चुनाव लड़े और UP में कल्याण सिंह की सरकार में मंत्री रहे। वर्ष 1993 एवम्‌ 96 में हुए विधानसभा चुनाव में भी फोनिया जीत गए थे। उत्तराखंड में 2007 में हुए विधानसभा (Uttarakhand Politics) चुनाव में भी उन्होंने जीत दर्ज की थी, लेकिन तब की खंडूरी सरकार में वे मंत्रीमंडल में शामिल नहीं हो पाए थे। केदार सिंह फोनिया उत्तराखंड राज्य निर्माण के बाद अंतरिम सरकार में लोक निर्माण विभाग और पर्यटन मंत्री रहे।

पत्नी ने रखा करवाचौथ का व्रत और पति ने उपहार में दिए चाकू के कई वार