UKSSSC पेपर लीक में 14वां आरोपी भी गिरफ्तार, नकल कर भर्ती परीक्षा में आई 163 रैंक

0
223

देहरादून, ब्यूरो। UKSSSC की 2021 में भर्ती परीक्षा में एसटीएफ लगातार नकल करने और करवाने वाले शातिर अपराधियों को अरेस्ट करती जा रही है। STF उत्तराखंड ने मामले में अब 14वें आरोपी को अरेस्ट किया गया गया है। इस आरोपी को उत्तराखंड STF ने पूछताछ के लिए बुलाया था। पूछताछ में सामने आया कि आरोपी ने इस परीक्षा से पहले एक गेस्ट हाउस में पेपर सॉल्व करने के बाद कुछ और लोगों को भी बेच दिया था। आरोपी तुषार चौहान की इसी भर्ती परीक्षा में नकल के बाद 163 रैंक आई है। STF SSP अजय सिंह के अनुसार अभी आरोपी की निशानदेही पर कई और लोग भी अरेस्ट किए जा सकते हैं। आरोपी को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल में डाला जा रहा है।

बात दें कि आज उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF एसटीएफ) ने UKSSSC Exam पेपर लीक मामले में 14वें आरोपी को पूछताछ के लिए बुलाया। आरोपी की इस भर्ती परीक्षा में पेपर लीक कर नकल करने के बाद 163वीं रैंक आई थी। उत्तराखंड STF एसएसपी अजय सिंह के अनुसार आरोपी ने रामनगर के एक गेस्ट हाउस में पेपर से पहले करीब पूरा प्रश्न पत्र हल कर लिया था। आरोपी की निशानदेही पर कई और राज खुलने के साथ ही कई और नकल करने वाले और करवाने वाले शातिर माफिया गिरफ्तार किए जा सकते हैं।

बता दें कि UKSSSC की दिसम्बर 2021 में स्नातक स्तरीय परीक्षा में जमकर धांधली हुई थी। इस संवेदनशील मामले में देहरादून के थाना रायपुर में दर्ज मु0अ0स0 289/22 धारा 420/467/ 468/471/34 भादवि की विवेचना एसटीएफ कर रही है। एसटीएफ ने इस अभियोग की विवेचना के दौरान प्रश्न पत्र आउट कराने की मिलीभगत करने वाले 13 अपराधियों को पहले ही अरेस्ट किया कर चुकी है। अब एक और आरोपी को जेल भेजा जा रहा है। मामले की तहकीकात के दौरान मिले साक्ष्यों के आधार पर 4 सरकारी कर्मचारियों और 3 संविदा कर्मचारियों को भी मिलीभगत के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। इसी क्रम में एसटीएफ कार्यालय में पुनः पूछताछ को बुलाये गये तुषार चौहान को भी साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

इस मामले में पहले से ही जेल में डाले जा चुके आरोपी ऊधमसिंहनगर के कोर्ट कर्मचारी मनोज जोशी ने तुषार चौहान पुत्र स्व विरेन्द्र सिंह निवासी कासमपुर, थाना जसपुर ऊधमसिंहनगर को पेपर उपलब्ध कराया। यहीं नहीं आरोपी ने उसके साथ मिलकर रामनगर के एक रिजॉर्ट में परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र को 3-4 और अभ्यार्थियों को भी साल्व करवाया था। तुषार चौहान ने खुद तो इस प्रश्न पत्र की नकल कर ही परीक्षा दी, इसके साथ-साथ मनोज जोशी के साथ मिलकर अन्य परीक्षार्थियों से भी नकल कराई। आरोपी तुषार चौहान के संपर्क अन्य से जुड़ने की भी प्रबल संभावना है, जिसके कहने पर को परीक्षा के प्रश्न पत्र उपलब्ध कराया गया। गौर करने वाली बात यह भी है कि तुषार चौहान की इस परीक्षा में 163वीं रैंक भी आई है। पुलिस आरोपी से कई और राज भी उगलवाने की कोशिश कर रही है।