UKSSSC पेपर लीक में कई और संदिग्ध STF की रडार पर, लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस से मिले ये ‘राज’

0
223
STF uttarakhand अब UKSSSC की इन 3 EXAM की भी करेगी जांच, जालसाजों की बढ़ी धड़कने

देहरादून, ब्यूरो। स्पेशल टास्क फोर्स ने उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की 2021 में हुई स्नातक स्तरीय भर्ती परीक्षा मामले में लखनऊ की प्रिंटिंग प्रेस में कर्मचारियों से गहनता से पूछताछ की है। STF आरोपी अभिषेक वर्मा को लेकर लखनऊ से लौट आई है। तीन दिन की पीसीआर के बाद लखनऊ से वापस आने के बाद आरोपी अभिषेक वर्मा को फिर से देहरादून जेल में डाल दिया गया है। STF के अफसरों और टीम ने इस दौरान आरोपी की निशानदेही पर कई महत्वपूर्ण दस्तावेज लैपटॉप, खरीदी गई गाड़ी के कागजात आदि बरामद किए गए हैं। पूछताछ के बाद अब कई और संदिग्ध लोग भी STF अरेस्ट कर सकती है।

यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामला: आरोपी अभिषेक वर्मा तीन दिन की पीसीआर के बाद फिर देहरादून जेल में डाला

एसटीएफ द्वारा पीसीआर के दौरान महत्वपूर्ण कड़ियां जोड़ने का किया गया प्रयास। जिस प्रिंटिंग प्रेस से पेपर लीक हुआ, उस स्थान का बारीकी से किया गया निरीक्षण और प्रेस में काम करने वाले कर्मचारियों से गहन पूछताछ की गई। आरोपी से 4 बैंक पासबुक, अवैध धन से खरीदी कार के कागजात आदि बरामद किए गए हैं।

उत्तराखंड में स्पेशल टास्क फोर्स के एसएसपी अजय सिंह के अनुसार आरोपी अभिषेक वर्मा से लैपटॉप, चार बैंक पासबुक, अवैध धन से खरीदी कार के कागजात आदि बरामद किए गए हैं। इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि पूर्व एग्जामिनेशन कंट्रोलर यूकेएसएसएससी से भी गहन पूछताछ हुई। पेपर का ब्लूप्रिंट बनने से लेकर छपने तक में सेंध लगी थी। प्रिंटिंग और पैकिंग के दौरान की सीसीटीवी फुटेज का कोई रिकॉर्ड का नहीं चला पता। पुनः पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। एग्जाम से जुड़े अधिकारी कर्मचारियों को एसटीएफ कार्यालय
मामले की संवेदनशीलता और अन्य की संलिप्तता को देखते हुए इस केस में कुछ और गिरफ्तारियां STF की रडार पर हैं।