Uksssc Paper Leak: STF ने हाकम का पार्टनर और प्रिंटिंग प्रेस के मालिक को भी दबोचा

0
403
STF

देहरादून ब्यूरो- UKSSSC Paper Leak को लेकर STF रोज चौंकाने वाले खुलासे कर रही है। STF ने अब कार्रवाई करते हुए तीन नकल माफिया को गिरफ्तार किया है। STF ने UKSSSC Paper Leak मामले में धामपुर का रहने वाला हाकम का पार्टनर केंद्रपाल को गिरफ्तार कर दिया है। साथ ही इस मामले में एसटीएफ ने लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस RIMS के मालिक राजेश चौहान को भी गिरफ्तार कर लिया है। हाकम के पार्टनर केंद्रपाल को एसटीएफ ने इस मामले में मुख्य अभियुक्त बना दिया है।

STF

पश्चिमी यूपी का सबसे बड़ा नकल माफिया है केंद्रपाल

UKSSSC Paper Leak मामले में गिरफ्तार केंद्रपाल पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े नकल माफिया में गिना जाता है। केंद्रपाल, हाकम सिंह का बिजनेस पार्टनर भी है। केंद्रपाल ने दस सालों में नकल गिरोह बनाकर धामपुर सहित कई जगहों पर करोड़ों की संपत्ति बना ली है। सांकरी स्थिति रिजॉर्ट में हाकम सिंह और केंद्रपाल पार्टनर हैं। एसटीएफ ने केंद्रपाल को भी मुख्य अभियुक्त बनाया है। अब यह माना जा रहा है कि इस मामले में अभी और गिरफ्तारी हो सकती हैं।

 

टेंपो चालक से केंद्रपाल बना नकल माफिया

नकल माफिया और हाकम सिंह का पार्टनर केंद्रपाल को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। केंद्रपाल 1996 से धामपुर में टैंपो चलाता था। टैंपो चलाने के बाद उसने धामपुर में ही रेडिमेड गारमेंट की दुकान खोली और फिर गारमेंट सप्लाई का काम भी करने लगा। लेकिन 2011 से वह यूपी के नकल गिरोह से जुड़ गया, फिर धीरे- धीरे पश्चिमी यूपी का बड़ा नकल माफिया बन गया। नकल से करोड़ों रुपये बनाकर केंद्रपाल के पास धामपुर में 12 बीघा जमीन और एक आलीशान मकान बनाया। साथ ही केंद्रपाल का संपर्क हाकम सिंह से हुआ और उत्तराखंड में वह हाकम का पार्टनर बन गया।UKSSSC image

UKSSSC Paper Leak में बार- बार आ रहा था केंद्रपाल का नाम

UKSSSC Paper Leak मामले में मुख्य आरोपी के तौर पर गिरफ्तार हाकम सिंह की गिरफ्तारी के बाद से ही केंद्रपाल का नाम सामने आ रहा था। चंदन मनराल से भी केंद्रपाल के संबंध थे। STF की छानबीन में यह भी सामने आया कि जब से UKSSSC Paper Leak मामले में गिरफ्तारी शुरू हुई तब से ही केंद्रपाल, हाकम और अन्य आरोपियों के संपर्क में था। गिरफ्तारी के डर से उसने पहले मामूली मारपीट के आरोप में कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। लेकिन जैसे ही वह जमानत पर बाहर आया एसटीएफ ने उसे गिरफ्तार कर दिया। अब हामक सिंह और केंद्रपाल इस मामले में मुख्य अभियुक्त हैं।

stf uttarakhand

प्रिंटिंग प्रेस के मालिक राजेश चौहान भी गिरफ्त में

STF ने इस पूरे मामले में उस प्रिंटिंग प्रेस RIMS के मालिक राजेश चौहान को गिरफ्तार कर लिया है। केंद्रपाल और हाकम सिंह से हुई छानबीन के बाद एसटीएफ ने राजेश चौहान को गिरफ्तार किया है। इससे पहले एसटीएफ ने इसी प्रिंटिंग प्रेस के दो कर्मचारी जयजीत और अभिषेक वर्मा को भी गिरफ्तार कर लिया गया था।

पाल

RIMS प्रिंटिंग प्रेस से ही सबसे पहले पेपर लीक हुआ था

4 और 5 दिसंबर 2021 को UKSSSC ने स्नातक स्तर पर भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। इस परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र छापने का काम RIMS प्रिंटिंग प्रेस के द्वारा ही हुआ था। यहीं से सबसे पहले पेपर लीक हुआ था। केंद्रपाल और हाकम सिंह से पूछताछ के बाद यह सामने आया और फिर एसटीएफ ने पूरे सबूतों के साथ प्रिंटिंग प्रेस के मालिक को गिरफ्तार कर दिया।

UKSSSC Paper Leak मामले में 26 आरोपी हो चुके हैं गिरफ्तार

एसटीएफ ने इस मामले में मुख्य अभियुक्त के तौर पर हाकम सिंह और केंद्रपाल सहित 26 आरोपियों को गिरफ्तार कर दिया है। इस मामले में पेपर छापने वाले प्रिंटिंग प्रेस के मालिक सहित तीन आरोपी हैं। एसटीएफ अब इस मामले में अन्य आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर सकती है।

ये भी पढें…

UKSSSC के बाद Uttarakhand विधानसभा और दारोगा भर्ती की होगी जांच!