रुद्रप्रयाग वासियों के लिए खुशखबरी, यहां 23 करोड़ से बन रहा 50 बेड का क्रिटीकल केयर अस्पताल

0
313

रुद्रप्रयाग (नरेश भट्ट): उत्तराखण्ड़ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने जनपद वासियों को स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर सुखद संदेश दिया है। आने वाले कुछ समय बाद जनपद के जिला चिकित्सालय में एक 50 बेड का क्रिटीकल केयर व्लॉक अस्पताल बनेगा। ये 23 करोड़ की लागत से बनेगा।

उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डॉॅ. धन सिहं रावत ने जनपद वासियों को दी सौगात

गंभीर बीमारी और आपातकाल स्थिति में स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लेने के लिए अब मैदान के चक्कर नहीं लगाने पडेंगे। जिले में ही क्रिटीकल केयर ब्लॉक तैयार होने जा रहा हैए जिसमें आधुनिक मशीनों के साथ ही विशेषज्ञ चिकित्सक भी उपलब्ध होंगे। राज्य स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने शुक्रवार को चिकित्सा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान यह घोषणा की। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 23 करोड़ की लागत से जिला चिकित्सालय में ही 50 बेड की विशेष सेल तैयार की जाएगी। उन्होंने जिले में वार्ड बॉय के रिक्त पदों को आउटसोर्स के माध्यम से बिना देरी के भरने के निर्देश दिए।

dhan singh

रुद्रप्रयाग वासियों के लिए खुशखबरी, यहां 23 करोड़ से बन रहा 50 बेड का क्रिटीकल केयर अस्पताल

जनपद वासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की स्वास्थ्य मंत्री डॉण् धन सिंह रावत ने जिला कार्यालय सभागार में समीक्षा बैठक की। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि रुद्रप्रयाग जिले में 20 करोड़ की लागत से तैयार होने जा रहे नर्सिंग कॉलेज का भूमि पूजन एक माह अंतर्गत हो जाएगा। बैठक में उन्होंने जिले में चिकित्सकोंए नर्सिंग स्टाफए वार्ड बॉय समेत अन्य स्टाफ की उपलब्धता की जानकारी भी ली। उन्होंने जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को किसी भी हाल में जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को चिकित्सालयों में हर समय दवाइयों की उपलब्धता बनाए रखने एवं निजी केमिस्टों से मरीजों को दवाई खरीद करवाए जाने पर प्रतिबंध लगाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को काम में कोताही बरत रहेए समय पर ड्यूटी ज्वॉइन न करने वाले एवं ज्वॉइनिंग के बाद भी चिकित्सालयों में नहीं पहुंच रहे डॉक्टरों एवं अन्य कर्मचारियों की सूची तैयार कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने जिले में चल रही 108 सेवाओं एवं खुशियों की सवारी वाहनों में कोई खराबी न आये कोटेश्वर जिला अस्ताल का भी निरीक्षण किया व मरीजों का हाल चाल जाना।