राॅन्ग साइड से जा रही बरात की जीप कंटेनर में जा घुसी, मची चीख पुकार; जीप का बना कचूमर

0
340
राॅन्ग साइड से जा रही बरात की जीप कंटेनर में जा घुसी, मची चीख पुकार

राॅन्ग साइड से जा रही बरात की जीप कंटेनर में जा घुसी, मची चीख पुकार; जीप का बना कचूमर

एक बच्चे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत, 15 बच्चों समेत 17 सवार गंभीर घायल

जौनपुर, ब्यूरो। बरातियों से भरी जीप की सामने आ रही एक कंटेनर ट्रक से भीषण भिडंत हो गई। जीप में सवार एक 16 साल के बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई जबकि जीप सवार 17 लोग गंभीर घायल हुए हैं। टक्कर इतनी भीषण थी कि जीप का पूरी तरह कच्चूमर बन गया। पुलिस ने सूचना के बाद मृतक बालक का शव और घायल बरातियों को किसी तरह सीएचसी नौपेड़वा में भर्ती करवाया। सीएचसी से पांच गंभीर घायल बच्चों को हायर सेंटर जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है। सभी घायलों की हालत अब स्थिर बताई जा रही है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के बक्शा थाना क्षेत्र के खुंशापुर गांव निवासी अमरू निषाद के घर से बरात सरायख्वाजा थाना क्षेत्र के बैजारामपुर गई थी। बराती खाना खाकर जीप संख्या यूपी 62 डी 6162 पर सवार होकर घर के लिए प्रस्थान किये। नरी गांव के जीप चालक छोटू यादव जीप में 16 नाबालिक बच्चों समेत 18 बरातियों मई से होते हुए वाराणसी लखनऊ मार्ग पर चढ़ गया। चालक गलत साइड से अभी मात्र तीन सौ मीटर मड़ैया नौपेड़वा पहुंचा ही था तभी सामने से वाराणसी की तरफ जा रहा कंटेनर ट्रक एचआर 55 एक्स 5834 से सीधी टक्कर हो गई। टक्कर लगते ही मौके पर चीख पुकार मच गई।

राॅन्ग साइड से जा रही बरात की जीप कंटेनर में जा घुसी, मची चीख पुकार

सूचना पर पहुंचे एसओ ने घायलों को नौपेड़वा अस्पताल ले गए। चिकित्सकों ने गम्भीर रूप से घायल 14 वर्षीय बादल निषाद पुत्र बृजलाल, 10 वर्षीय सौरभ निषाद पुत्र हरिकेश, 15 वर्षीय सन्दीप निषाद पुत्र राजनाथ, 9 वर्षीय निलेश निषाद पुत्र श्यामू निषाद, 9 वर्षीय अजय निषाद पुत्र श्रीप्रकाश निषाद को बेहतर उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया। जिला अस्पताल में अजय निषाद की मौत हो गई जबकि नीलेश को बीएचयू हायर सेंटर रेफर किया गया है। जबकि 12 वर्षीय एकलव्य निषाद पुत्र मुकेश, 17 वर्षीय आशू निषाद पुत्र श्री प्रकाश, 12 वर्षीय मनीष निषाद पुत्र राजेन्द्र, 14 वर्षीय नीलेश निषाद पुत्र श्यामू निषाद, 9 वर्षीय अजय निषाद पुत्र श्रीप्रकाश, 13 वर्षीय आयुष निषाद पुत्र रत्नाकर, 12 वर्षीय अरविंद पुत्र सुभाष निषाद, 12 वर्षीय अमित निषाद पुत्र राजेन्द्र, 14 वर्षीय बबलू निषाद पुत्र राजाराम, 14 वर्षीय ऊदल पुत्र बृजलाल उर्फ बिरजू, 16 वर्षीय मंजीत निषाद पुत्र रामसिंह निषाद, 32 वर्षीय चन्दन निषाद, 18 वर्षीय सुनील निषाद पुत्र राम सिंह निषाद को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।