इस खूंखार पालतू श्वान ने मालकिन को ही नोच-नोचकर मार डाला, 23 और भी पल रहे राजधानी में

0
281

लखनऊ, ब्यूरो। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बंगाली टोला इलाके में कुत्तों की सबसे खूंखार पिटबुल नस्ल के एक श्वान ने अपनी ही 80 वर्षीय मालकिन पर हमला कर दिया। यह महिला रोज अपने दो कुत्तों जिनमें से एक हमला करने वाला पिटबुल और एक लेब्रा प्रजाति के श्वान था, भोजन करवाती थी। यह दोनों उनके बेटे के कमरे में ही बंधे रहते थे। कल मंगलवार को खूंखार पिटबुल श्वान किसी तरह खुला रह गया। महिला के बेटे अमित त्रिपाठी ने सुबह तड़े पांच बजे देखा कि पिटबुल नस्ल का कुत्ता उनकी मां को नोच रहा है। पिटबुल ने उसकी मां के पेट और चेहरे को बुरी तरह काट दिया था। आनन-फानन में वह अपनी मां को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां से उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया लेकिन ट्रामा सेंटर में मां ने दम तोड़ दिया।

pitbul e1657698943927

इस खूंखार पालतू श्वान ने मालकिन को ही नोच-नोचकर मार डाला, 23 और भी पल रहे राजधानी में

इस खूंखार नस्ल के पालतू श्वान ने मालकिन को ही नोच-नोचकर मार डाला, 23 और भी पल रहे राजधानी में

बता दें कि उप्र की राजधानी लखनऊ में एक खूंखार पालतू पिटबुल डाॅग ने मालकिन को ही मौत के घाट उतार दिया। दिल दहला देने वाली यह घटना लखनऊ के बंगाल टोला इलाके में हुई। यहां रहने वाली 80 साल की महिला को उनके पालतू कुत्ते ने ही नोच-नोचकर जख्मी कर दिया। महिला के पास पिटबुल और लेब्रा नस्ल का श्वान। पिटबुल दुनिया में सबसे खूंखार नस्ल का कुत्ता माना जाता है। महिला सुशीला त्रिपाठी दोनों कुत्तों को खाना देती और उनके साथ खेलती थीं। दोनों कुत्ते महिला के बेटे अमित त्रिपाठी के कमरे में रहते थे। मंगलवार को कुत्ता खुला रह गया। महिला के बेटे अमित ने तड़के पांच बजे देखा कि पिटबुल नस्ल का कुत्ता उनकी मां को नोच रहा है। पिटबुल ने उसकी मां के पेट और चेहरे को बुरी तरह काट दिया था। आनन-फानन में वह अपनी मां को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां से उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया लेकिन ट्रामा सेंटर में मां ने दम तोड़ दिया।

वहीं, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में खूंखार नस्ल पिटबुल के 23 और कुत्ते हैं। नगर निगम से इस नस्ल के 23 कुत्तों का लाइसेंस नगर निगम की ओर जारी किया गया है। वहीं, जिस पिटबुल ने अपनी ही मालकिन को नोच-नोच कर मार डाला उसका नगर निगम से लाइसेंस बना भी था या नहीं यह अभी साफ नहीं हो पाया है। वहीं, महिला की मौत के बाद परिजनों में शोक की लहर है।