न्याय के लिए भटक रही मित्र पुलिस की सिपाही, पहले पति ने पीटा फिर दिया तीन तलाक

0
64

देहरादून ब्यूरो- उत्तराखंड की पुलिस को मित्र पुलिस कहा जाता है, लेकिन इस मित्र पुलिस की एक महिला सिपाही को ही न्याय के लिए दर- दर भटकना पड़ रहा है। इस महिला सिपाही की शिकायत है कि उसके पति ने उसे पहले पीटा और उसके बाद तीन तलाक दे दिया। लेकिन आज तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई। साथ ही महिला सिपाही का आरोप है कि तलाक के बाद उसके पति ने उसका ट्रांसफर दूसरे जिले में करा दिया।

शिकायतकर्ता महिला सिपाही अंजूनिशा ने बताया कि उसकी शादी 2006 में माजरा निवासी शाहबुद्दीन के साथ हुई थी, उनके दो बच्चे भी हैं।  उसका पति स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर तैनात है और वर्तमान में मुख्यमंत्री आवास पर संबद्ध है। उसने बताया कि शादी के कुछ समय बाद वे किराये के मकान पर रहने लगे, बाद में लोन लेकर अपना मकान बना दिया। पहले तो सब ठीक था लेकिन बाद में शाहबुद्दीन आए दिन उसके साथ बदसलूकी करने लगा। इससे परेशान होकर उसने दिसंबर 2020 में महिला हेल्पलाइन में लिखित शिकायत भी की, मगर उस शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

न्याय के लिए भटक रही मित्र पुलिस की सिपाही, पहले पति ने पीटा फिर दिया तीन तलाक

महिला ने आरोप लगाया कि 28 मार्च 2021 को उसके पति ने पहले उसे पहले पीटा फिर अपने पिता और रिश्तेदारों को बुलाकर उसे तीन तलाक बोल दिया। उसे जान से मारने की नीयत से उस पर हमला भी किया लेकिन तब रिश्तेदारों ने उसे बचा लिया। इस घटना के बाद वह अपने बच्चों के साथ अकेली रहने लगी। लेकिन अब इस महिला सिपाही का तबादला देहरादून अभियोजन कार्यालय से रूद्रप्रयाग हो गया है। इस पर महिला का कहना है कि पति के दबाव में उस का ट्रांसफर रूद्रप्रयाग किया गया। साथ ही उस का कहना है कि उसका पति उसे सस्पेंड करने की भी धमकी दे रहा है। वहीं पटेलनगर पुलिस का कहना है कि मंगलवार को उनके पास यह शिकायत आई थी जिस पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।