नामी कंपनियों की बना रहे थे नकली दवा, करोड़ों का माल और दवा समेत पांच अरेस्ट

नकली दवा बनाने की मशीनें, रैपर और कच्चा माल बरामद, सहारनपुर और भगवानपुर क्षेत्र में चल रहा था अवैध करोबार

हरिद्वार/भगवानपुर, ब्यूरो। उत्तराखंड एसटीएफ ने रविवार और शनिवार रात को भगवानपुर और सहारनपुर में छापा मार कर बंद पड़ी दवा की फैक्ट्रियों पर छापा मारा। इस दौरान बड़ी संख्या में नकली दवा बनाने वाली मशीनें, रैपर और कच्चा माल बरामद किया गया है। इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कईं लाख टेबलेट बरामद की गई।

एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि थाना भगवानपुर क्षेत्र में पूर्व में बंद हुई इनोवा ड्रग एंड फार्मा कंपनी से अभियुक्त राशिद खान व नितिन प्रजापति को नकली दवाओं के साथ ऑल्टो कार में 4 लाख की नकली दवाओं के साथ गिरफतार किया गया। कुल पांच लोग गिरफ्तार किये गए। बताया गया की यह नकली दवाएं पूर्व में बंद पड़ी इनोवा फैक्ट्री के अंदर चोरी छिपकर फैक्ट्री मालिक विशाल व उसके पार्टनर पंकज कुमार द्वारा तैयार की गई। नकली दवाओं को हेल्पर रोहतास के माध्यम से कोरियर के माध्यम से अलग अलग राज्यों में भेजते हैं। विगत दो माह से स्पेशल टास्क फोर्स नकली दवा बनाने वाली फार्मा फैक्ट्री की तलाश में जुटी थी। नामी कंपनियों की दवा बनाने का सामान,केमिकल,निर्मित निम्मी दवाइयां बरामद की गई। देशभर में कोरियर सर्विस के माध्यम से सप्लाई की जाती थी। दवाइयों के पेपर बॉक्स ग्राम सिसौना थाना भगवानपुर में साहिब के गोदाम पर तैयार होते है।

इसके अलावा पंकज ने लक्सर में पीपलहिया गांव में अलग से फैक्ट्री लगाकर तैयार दवाओं की रेपरिंग कर बाजार में बेचता है। और नितिन द्वारा सहारनपुर के कैलाशपुर में बिना लाइसेंस के अलग से फैक्ट्री में मशीन लगाकर नकली दवाई बनाकर पूरे देश में बड़े पैमाने में नकली दवाओं की बिक्री करते हैं ।छापे में बरामद नामी कंपनियों की दवा की कीमत पंद्रह लाख से ज्यादा व कच्चे माल की कीमत लगभग एक करोड़ से ज्यादा है।