चैत्र नवरात्र में कुट्टू के आटे के पकवान पड़ गए महंगे, 100 से ज्यादा लोगों की हालत बिगड़ी

0
198

डीएम, सीटी मजिस्ट्रेट समेत सीएमओ ने जाना पीड़ितों का हाल, दुकानों से लिए जा रहे सैंपल

हरिद्वार/देहरादून, ब्यूरो। हरिद्वार में चैत्र नवरात्र के पहले ही दिन कुट्टू के आटे से बने पकवान खाने से लगभग 100 लोगों की हालत खराब हो गई। हरिद्वार के लालढांग इलाके में भी करीब 22 लोग कुट्टू के आटे के पकवान से फूड प्वाइजनिंग हो गई। आनन-फानन में सभी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हरिद्वार के डीएम विनय शंकर पांडेय, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह और सीएमओ भी मौके पर पहुंचकर बीमार लोगों का हालचाल पूछ रहे हैं। बता दें कि हरिद्वार के कांगड़ी, गाजीवाली, श्यामपुर, भूपतवाला और लालढांग इलाके में लोग कुट्टू के आटे का सेवन करने से फूड प्वाइजनिंग के शिकार हुए हैं। नवरात्र के पहले ही दिन इन लोगों पर कहीं न कहीं आफत बनकर टूटा है। एक ओर जहां इससे खाद्य सुरक्षा विभाग की मुस्तैदी और कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं वहीं दूसरी ओर कहा जा रहा है कि बीमार लोगों की निशानदेही पर यह आटा बेचने वाले दुकानदारों की तलाश की जा रही है। कुछ बीमारों का इलाज जिला अस्पताल और मेला अस्पताल में चल रहा है। जबकि कुछ गंभीर हालत वाले लोगों को हायर सेंटर रेफर किया जा रहा है।

dm haridwar

सूचना के बाद मौके पर पहुंचे डीएम और सिटी मजिस्ट्रेट ने अस्पतालों में भर्ती मरीजों का हालचाल जाना और उचित इलाज समय पर देने के के निर्देश दिए। आवश्यकता पड़ने पर यदि निजी चिकित्सालय में भी मरीजों को भर्ती कराया जाना हो तो तत्काल इसके लिए तैयार रहने के भी निर्देश अफसरों ने दिए हैं।

हरिद्वार के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. खगेंद्र ने बताया कि जनपद के श्यामपुर, रोशनाबाद और ब्रह्मपुरी में भी कई लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुए हैं। जहां से भी यह आटा खरीदा गया है उन सभी से कुट्टू के आटे के सैंपल लिए जा रहे हैं। दूसरी ओर जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी आरएस पाल ने बताया कि सभी के सैंपल लिए जा रहे हैं रिपोर्ट आने के बाद गड़बड़ी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल किसे के हताहत होने की खबर नहीं है। सभी मरीजों का उचित उपचार किया जा रहा है। कहीं न कहीं यह नवरात्र का व्रत इन लोगों के लिए मुसीबत बनकर आया है।