केदारनाथ में बर्फबारी से जल संस्थान के स्टैण्ड पोस्ट ध्वस्त, इतने करोड़ का नुकसान

0
337
uttarakhand news

गौरीकुंड-केदारनाथ पैदल मार्ग पर पानी की आपूर्ति के लिये विभाग ने भेजा एक करोड़ तीस लाख का स्टीमेट

रुद्रप्रयाग (संवाददाता- नरेश भट्ट): शीतकाल में अत्यधिक बर्फबारी के कारण केदारनाथ धाम में जल संस्थान रुद्रप्रयाग को भारी नुकसान हुआ है। गौरीकुण्ड से केदारनाथ धाम तक जल संस्थान के लगभग 20 स्टैण्ड पोस्ट क्षतिग्रस्त हुये हैं, जबकि पेयजल लाइन भी ग्लेशियर और बर्फबारी के कारण क्षतिग्रस्त हो गई है। विभाग ने शासन को केदारनाथ में हुई क्षति की पूर्ति करने के लिये एक करोड़ तीस लाख का एस्टीमेट भेजा है। हालांकि छः मई से शुरू हो रही केदारनाथ यात्रा को देखते हुये विभाग धाम सहित पैदल मार्ग पर पानी की आपूर्ति करने में जुट गया है।

devbhoomi

आपको बता दें कि केदारनाथ यात्रा की तैयारियां जोरो शोरो से शुरू हो गई हैं। यात्रा से जुड़े विभाग अपनी-अपनी टीमों के साथ केदारनाथ पहुंचने लग गये हैं। शासन द्वारा भी विभागों को समय पर तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश मिल चुके हैं। इसी कड़ी में जल संस्थान विभाग रुद्रप्रयाग भी धाम सहित पैदल मार्ग पर यात्रा व्यवस्था सुचारू रूप से मुहैया कराने में जुट गया है। हालांकि अत्यधिक बर्फबारी के कारण जल संस्थान को धाम और पैदल मार्ग पर भारी नुकसान हुआ है। भीमबली से आगे धाम तक जल संस्थान के कई स्टैण्ड पोस्ट एवं नल ग्लेशियरों से टूट गये हैं, जबकि बर्फबारी में जगह-जगह पेयजल लाइन भी क्षतिग्रस्त हो चुकी है। ऐसे में विभाग के सम्मुख समय कम और काम ज्यादा हो गया है।

devbhoomi

जल संस्थान ने शासन को क्षतिग्रस्त स्टैण्ड पोस्टों की मरम्मत एवं पुनर्निर्माण के लिये एक करोड़ तीस लाख का एस्टीमेट भेजा है। हालांकि अभी विभाग को पैंसा नहीं मिला है, लेकिन आगामी यात्रा को देखते हुये विभाग तैयारियों में जुट गया है। केदारनाथ पैदल मार्ग सहित धाम में यात्रियों के लिए स्टैंड पोस्ट तैयार किये जा रहे हैं, जबकि घोड़े-खच्चरों के लिये भी पानी की चरियां बनाई जा रही हैं। विभाग का दावा है कि कपाट खुलने से पूर्व पानी की आपूर्ति सुचारू हो जायेगी। जल संस्थान के अधिशासी अभियंता संजय सिंह ने बताया कि बर्फबारी और ग्लेशियरों के टूटने से बीस के आस-पास स्टैण्ड पोस्ट क्षतिग्रस्त हुये हैं, जबकि पेयजल लाइने भी जगह-जगह ध्वस्त हो चुकी हैं। विभाग अपनी तैयारी में जुट गया है। यात्रा से पहले केदारनाथ पैदल मार्ग के साथ ही धाम में पेयजल आपूर्ति सुचारू कर दी जायेगी, जिससे तीर्थयात्रियों को पेयजल की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा।

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here