FORBS की 30 अंडर 30 सूची में छाया गोरखपुर का ये स्टार्टअप, सिद्धार्थ और दो दोस्तों मेहनत लाई रंग

फोर्ब्स की एशिया 30 अंडर 30 लिस्ट में उनकी कंपनी को जगह मिली

लखनऊ, ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के तीन दोस्तों की मेहनत काम लाई है। गोरखपुर के सिद्धार्थ श्रीवास्तव और उनके दोस्तों की कंपनी एबल जाॅब्स को विश्व की प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स में स्थान मिला है। इस साल फोर्ब्स (FORBS) की एशिया 30 अंडर 30 की लिस्ट में उनकी कंपनी को जगह मिली है।

दरअसल, बैंक ऑफ बडौदा उत्तर प्रदेश के सेवानिवृत्त सहायक महाप्रबंधक संजय श्रीवास्तव के बेटे सिद्धार्थ ने एचबीटीआइ कानपुर से बीटेक किया है। देश के पीएम नरेन्द्र मोदी से प्रभावित सिद्धार्थ ने नौकरी को चुनने की बजाय कानपुर आईआईटी से बीटेक रविश अग्रवाल और एचटीआई के स्वतंत्र कुमार के साथ एक स्टार्टअप शुरू किया। तीनों दोस्तों ने एक ऐसा एप डेवलप किया जिससे स्नातक पास छात्रों को आनलाइन प्लेटफाॅर्म से रोजगार के लिए ट्रेन किया जा सके। ट्रेनिंग के बाद मल्टी नेशनल और बड़ी नेशनल कंपनियों में ऐसे ही करीब 25 हजार लोगों को रोजगार दिलाया। सिद्धार्थ की उपलब्धि पर पिता संजय श्रीवास्तव माता माला श्रीवास्तव गदगद हैं। बता दें कि सिद्धार्थ की प्रारंभिक शिक्षा सेंट पाल एवं जीएन पब्लिक स्कूल से हुई। सिद्धार्थ की इस सफलता से सभी शुभचिंतक खुश हैं। संजय श्रीवास्तव बताते हैं के प्रधानमंत्री के स्टार्ट अप योजना से प्रभावित सिद्धार्थ अपने बल पर कुछ करना चाहते थे। फोर्ब्स जैसी प्रतिष्ठित पत्रिका में स्थान मिलने से शहर का नाम भी रोशन हुआ है।

स्टार्टअप के बाद ही कोरोना महामारी के कारण थोड़ी सी परेशानियां हुई, लेकिन फिर भी तीनों दोस्तों का हौसला नहीं डगमगाया। उनके स्टार्टअप एबल जाॅब्स (Able Jobes)का धीरे-धीरे कई अच्छी कंपनियों से करार हुआ और उन्होंने बिग बास्केट, फ्लिपकार्ट, शेयर चैट जैसी कई और मल्टी नेशनल और नेशनल कंपनियों को बेरोजगार युवक ट्रेंड कर दिए।