तिलकोत्सव में डांसर को लगी हर्ष फायरिंग की गोली, मचा हड़कंप; BJP नेता का बेटा पुलिस हिरासत में

0
353
तिलकोत्सव में डांसर को लगी हर्ष फायरिंग की गोली, मचा हड़कंप; BJP नेता का बेटा पुलिस हिरासत में

वाराणसी, ब्यूरो। देर रात तक चल रही पार्टी में हर्ष फायरिंग की गोली सीधे डांसर को लग गई। जिससे वह नीचे गिर गई और देखते ही देखते डांसर खून से लथपथ हो गई। मौके पर गोली चलने की आवाज से अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में डांसर रागिनी को सीएचसी सोनबरसा लाया गया। इसके बाद प्राथमिक उपचार के बाद उसे सदर अस्पताल भेजा गया। वहां भी हालत गंभीर होने पर डांसर को वाराणसी रेफर कर दिया गया है। वहां भी उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। इस मामले में पुलिस ने एक भाजपा नेता के बेटे को हिरासत में लिया है। जिस दोनाली बंदूक से गोली चली वह पुलिस ने जब्त कर ली है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। हालांकि अभी पीड़िता पक्ष की ओर से अभी तक पुलिस को कोई तहरीर नहीं मिली है।

तिलकोत्सव में डांसर को लगी हर्ष फायरिंग की गोली, मचा हड़कंप; BJP नेता का बेटा पुलिस हिरासत में

दरअसल, बलिया जिले के करमानपुर गांव में देर रात एक बजे तक पार्टी चल रही थी। जानकारी के अनुसार भाजपा जिला उपाध्यक्ष विजय बहादुर सिंह के बेटे का सोमवार रात तिलकोत्सव था। लगभग दस बजे कुछ लोग डांस पार्टी लेकर उनके दरवाजे पर आ गए। इसके बाद नाच-गाने का दौर शुरू हुआ। डांसर अपनी प्रस्तुतियां दे रही थी। रात करीब एक बजे गोली चलने की आवाज सुनाई दी। पता चला कि हर्ष फायरिंग की एक गोली डांसर रागिनी के पेट में जा लगी। गोली चलने की आवाज सुनते ही मौके पर अफरा-तफरी मच गई। डांसर को दोनाली बंदूक से गोली लगते ही वह जमीन पर गिर पड़ी और उसके शरीर से खून बहने लगा। मौके पर हड़कंप के साथ ही अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में डांसर रागिनी को जख्मी हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। डांसर की हालत गंभीर होने के कारण प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर वाराणसी भेज दिया गया है।

इस संबंध चिकित्साधिकारी डा. एसएस रावत ने बताया प्राथमिक उपचार के बाद उसे सदर अस्पताल भेज दिया। वहीं, सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने उसे वाराणसी रेफर कर दिया। सीओ बैरिया अशोक कुमार मिश्र ने बताया कि मांगलिक कार्यक्रम में असावधानी से गोली चली थी। विजय बहादुर सिंह के पुत्र अमरेंद्र को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। लाइसेंसी दोनाली बंदूक को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। पीड़ित द्वारा तहरीर नहीं दी गई है। मामले की जांच की जा रही है।