Tuesday, September 27, 2022
Homeदेशकाँग्रेस अध्यक्ष चुनाव 2022 के लिए अधिसूचना जारी,देखें नामांकन से लेकर नतीजों...

काँग्रेस अध्यक्ष चुनाव 2022 के लिए अधिसूचना जारी,देखें नामांकन से लेकर नतीजों तक की जानकारी

आई Congress President चुनाव की बारी, देखें नामांकन से लेकर नतीजों तक की जानकारी

देश के सबसी बड़ी और पुरानी पार्टी काँग्रेस ने गुरुवार को पार्टी के अध्यक्ष चुनाव के लिए अधिसूचना जारी कर दी। इस अधिसूचना के अनुसार पार्टी अध्यक्ष पद (Congress President) के चुनाव के लिए 24 सितम्बर से 30 सितम्बर तक नामांकन दाखिल किया जा सकता है और यदि आवश्यक हुआ तो इस पद के लिए 17 अक्टूबर को मतदान होगा और 19 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा। यह अधिसूचना काँग्रेस के केन्द्रीय चुनाव प्राधिकरण की ओर से जारी की गयी है।

नामांकन की जांच 1 अक्टूबर को की जाएगी और उसी दिन वैध उम्मीदवार की सूची भी प्रकाशित की जाएगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 8 अक्टूबर है और उसी दिन उम्मीदवार की अंतिम सूची भी प्रकाशित कर दी जाएगी।

congress

Congress President चुनाव की रेस में अशोक गहलोत,शशि थरूर के बाद दिग्विजय सिंह की एंट्री से आया ट्विस्ट

पार्टी इस समय जिस अंतर्कलह से गुजर रही है उसमें गांधी परिवार से बाहर के किसी सदस्य को अगर अध्यक्ष (Congress President) बनाया जाता है तो स्थिति में कुछ सुधार आयेगा। काँग्रेस के नाराज नेताओं का ग्रुप [जी-23] भी इस स्थिति में कुछ नरम होगा।

कॉंग्रेस अध्यक्ष (Congress President) पद की रेस में अभी तक राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और केरल से सांसद शशि थरूर का नाम आगे चल रहा था और अब इस चुनावी दंगल में काँग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का नाम भी शामिल हो गया है। चूंकि दिग्विजय सिंह काँग्रेस परिवार के बेहद करीबी माने जाते हैं इसलिए संभावना है कि वो चुनाव लड़ें।

ये भी पढ़ें NIA का टेरर फंडिंग और ट्रेनिंग कैंप पर शिकंजा, 11 राज्यों में PFI के ठिकानों पर छापेमारी,106 गिरफ्तार

काँग्रेस अध्यक्ष चुनाव पद का दावेदार वही- जो  होगा सोनिया गांधी का विश्वासपात्र

congress

अभी दो नामों कि चर्चा थी इस चुनाव में अशोक गहलोत और शशि थरूर। अचानक दिग्विजय सिंह आज अन्तरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने जा रहे हैं। इसके पहले अशोक गहलोत और शशि थरूर भी सोनिया गांधी से मिल चुके हैं। दरअसल, गांधी परिवार का विश्वासपात्र ही काँग्रेस अध्यक्ष पद की कमान संभालेगा, इसमें कोई दो राय नहीं है। ऐसे में सोनिया गांधी की ओर से हरी झंडी मिलना बेहद जरूरी है। अब यह देखना जरूरी है की सोनिया गांधी से मिलने के बाद दिग्विजय सिंह क्या बयान देते हैं इसके बाद ही काँग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर स्थिति साफ हो पाएगी।

For Latest National News Subscribe devbhoominews.com

RELATED ARTICLES

Most Popular