चारो धामों के कपाट बंद होने की तिथि हुई घोषित, इन तिथियों पर होंगे कपाट बंद

0
352
Chardham Yatra

Uttarakhand News: Chardham Yatra: लगभग बीते दो साल से कोरोना काल के कारण चारधाम यात्रा नहीं हो पाई थी जिसके बाद इस बार दो साल बाद चारधाम यात्रा अपने चरम पर है। श्रद्धालु काफी दूर – दूर से तीर्थ यात्रा करने आ रहे है । इस बार तीन मई को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा शुरू हुई थी। अब तक चारधाम में लगभग 40 लाख से ज्यादा श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं। वहीं आज दशहरा पर्व के मौके चारों धामों के कपाट बंद होन की तिथि भी घोषित कर दी गई है।

Chardham Yatra: इन तिथियों पर बंद होंगे कपाट

Chardham Yatra

चारों धामों (Chardham Yatra) के कपाट बंद होने की तिथि भी घोषित हो गई है। गंगोत्री धाम के कपाट 26 अक्तूबर को अन्न कूट पर्व पर शीतकाल के लिए 12 बजकर 01 मिनट पर बंद होंगे। यमुनोत्री धाम के कपाट 27 अक्तूबर को भाई दूज के पावन पर्व पर 12 बजकर 09 मिनट पर सर्व सिद्धि योग, और अभिजीत मुहूर्त में बंद होंगे। साथ ही केदारनाथ धाम के कपाट भी भाई दूज के पावन पर्व पर 27 अक्तूबर को बंद कर दिए जाएंगे। उसके बाद 19 नवंबर को दोपहर 3 बजकर 35 मिनट पर शुभ मुहूर्त में बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होंगे। वहीं, तीर्थ पुरोहितों का कहना है कि भैया दूज पर्व की तिथि 26 अक्टूबर शाम से शुरू होकर 27 अक्टूबर दोपहर 12:00 बजे तक है इसलिए धामों के कपाट 27 अक्तूबर को ही बंद किए जाएंगे।

Chardham Yatra: इस बार भारी मात्रा में उमड़ रही श्रद्धालुओं की भीड़

Chardham Yatra

इस बार दो साल बाद चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) सुचारू रूप से शुरू हुई है। उसी के चलते इस बार भारी मात्रा में श्रद्धालु चारधाम के दर्शन करने पहुंच रहे है जिसका उदाहरण यात्रा शुरू होने के पहले दिन ही देखने को मिला कपाट खुलने के दिन ही केदारनाथ धाम में 20 हजार से अधिक तीर्थयात्री दर्शन के लिए पहुंचे, जिससे इंतजाम भी कम पड़े गए थे। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सरकार को बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में प्रतिदिन दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की संख्या तय करनी पड़ी थी। चारधामों में अब तक लगभग 40 लाख श्रद्धालु दर्शन कर चुके है।

Chardham Yatra

ये भी पढ़ें…

मुख्यमंत्री धामी ने उत्तरकाशी और पौड़ी में हुए हादसों को लेकर मुआवजा देने की घोषणा की