पुलिस और खनन माफिया के बीच हुई मुठभेड़ का शिकार हुई भाजपा नेता की पत्नी

0
381
BJP Leader Wife Death
BJP Leader Wife Death

BJP Leader Wife Death: किसकी गोली का शिकार हुई भाजपा नेता की पत्नी?

BJP Leader Wife Death: खनन माफिया और यूपी पुलिस के बीच हुई भिडंत में एक निर्दोष महिला ने अपनी जान गवां दी। ये घटना तब की है जब यूपी पुलिस खनन माफिया का पीछा करते हुए उत्तराखंड पहुंची और इसी दौरान खनन माफिया और यूपी पुलिस के बीच गोलीबारी होने लगी और इसकी चपेट में एक मासूम महिला (BJP Leader Wife Death) आ गई।

आपको बता दें कि जिस महिला की मौत (BJP Leader Wife Death) हुई वो भाजपा नेता की पत्नी थी। महिला उस वक्त एनकाउंटर का शिकार हुई जब वो अपनी ड्यूटी से घर लौट रही थी। महिला की मौत से गुस्साए लोगों ने जब जमकर हंगामा किया तो इस हंगामें का फायदा उठाते हुए माफिया वहां से फरार हो गया।

BJP Leader Wife Death
Source: Social Media

दरअसल बुधवार की दोपहर को यूपी पुलिस को ये सूचना मिली थी खनन माफिया जिसका नाम जफर है, वो मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा इलाके में छिपा हुआ है, जिसके बाद पुलिस द्वारा इलाके में छापा मारा गया तो दूसरी ओर से जफर ने भी फायरिंग शुरू कर दी। जब जफर को लगा कि पुलिस द्वारा उसका चारों तरफ से घेराव कर दिया गया है तो वो बॉर्डर क्रास करके भरतपुर गांव पहुंच गया, जहां वो भाजपा नेता गुरताज सिंह के फार्म हाउस में छिप गया।

बताया जा रहा है कि जिस वक्त यूपी पुलिस खनन माफिया जफर पर शिकंजा कसने जा रही थी उस वक्त यूपी पुलिस आम कपड़ों में थी। जिसके बाद गुरताज सिंह ने इन पुलिसवालों को बदमाश समझा क्योंकि यूपी पुलिस हाथ में पिस्टल लिए फार्म हाउस की ओर बढ़ रही थी।

यूपी पुलिस द्वारा जब अपना परिचय दिया गया तो गुरताज सिंह और उनके परिवार ने लोकल पुलिस को बुलाए जाने की मांग की, इसी बीच यूपी पुलिस को खनन माफिया जफर दिखाई दिया और इस बीच पुलिस ने फायरिंग करना शुरू कर दिया। फायरिंग के दौरान गुरताज सिंह की पत्नी अपनी ड्यूटी से लौट रही थीं और उसी समय उन्हें गोली लग गई जिसके बाद उनकी मौत (BJP Leader Wife Death) हो गई।  

बताया जा रहा है कि मुठभेड़ में खनन माफिया जफर और उसके साथियों ने एक घंटे तक 12 पुलिसवालों को बंधी बनाकर रखा साथ ही पुलिस के हथियार लूटे और पुलिस की गाड़ी को भी आग के हवालें कर दिया। वहीं भाजपा नेता की पत्नी की मौत (BJP Leader Wife Death) के बाद परिवार और ग्रामीणों में भारी आक्रोश दिखाई दिया, जिसका फायदा उठाते हुए खनन माफिया जफर और उसके साथी मौके से फरार हो गए।

आक्रोशित गांव वालों द्वारा उत्तराखंड में कुंडा तिराहे में जमकर प्रदर्शन किया गया और साथ ही यूपी पुलिस पर महिला की हत्या का मुकदमा भी दर्ज किया गया। इसके साथ ही यूपी पुलिस ने भी कुछ ग्रामीणों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ केस दर्ज कराया।

खनन माफिया जफर
खनन माफिया : जफर

आपको बता दें कि जिस खनन माफिया को गिरफ्तार करने के लिए यूपी पुलिस ने ये ऑपरेशन चलाया उसने 13 सितंबर को एसडीएम की टीम को बंधी बनाया था और साथ ही डंपर भी छीन लिए थे। इसी के बाद से खनन माफिया जफर को पुलिस ढूंढ रही थी। इस एनकाउंटर में एक इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसवाले घायल हो गए। इनमें से 3 गोलीबारी के दौरान गोली का शिकार हुए वहीं 2 ग्रामीणों के गुस्से का शिकार हुए।  

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com