इस अस्पताल में अविवाहित युवती ने दिया बच्चे को जन्म! दो घंटे बाद नवजात को छोड़ हो गई फरार; मचा हड़कंप

0
179

पौड़ी गढ़वाल, ब्यूरो। उत्तराखंड के राजकीय मेडिकल कॉलेज बेस अस्पताल श्रीनगर गढ़वाल में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। एक अविवाहिता अपने नवजात को अस्पताल के एक कर्मचारी को देकर खुद फरार हो गई। नवजात की निकु (शिशु गहन देखभाल इकाई) वार्ड में एक दिन बाद मौत हो गई। इससे अस्पताल प्रशासन में भी हड़कंप मचा हुआ है। हैरानी की बात यह है कि अस्पताल के स्त्री रोग एवं प्रसूति विभाग ने महिला को डिलीवरी के दो घंटे के अंदर ही छुट्टी भी दे दी। जबकि नियमानुसार जच्चा-बच्चा पूरे 48 घंटे तक डॉक्टरों की निगरानी में रहते हैं।

इस अस्पताल में अविवाहित युवती ने दिया बच्चे को जन्म! दो घंटे बाद नवजात को छोड़ हो गई फरार; मचा हड़कंप

जानकारी के अनुसार शनिवार, 9 जुलाई शाम को चार बजे बेस अस्पताल श्रीनगर गढ़वाल के प्रसूता वार्ड में 21 वर्षीय गर्भवती अविवाहित युवती को भर्ती कराया गया था। अगले दिन रविवार 10 जुलाई सुबह 11 बजे उसने एक शिशु को जन्म दिया। शिशु प्री-मैच्योर (समय से पूर्व) था।  महिला की डिलीवरी होने के दो घंटे बाद ही प्रसूता को श्रीनगर गढ़वाल के अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। जबकि नियमानुसार उसे कम से कम 48 घंटे तक अस्पताल में भर्ती रखा जाना चाहिए था। इसके साथ ही बताया जा रहा है कि प्रसूता के परिजन नवजात को वार्ड के एक कर्मचारी के हवाले कर चले गए। जिसके बाद कर्मचारी नवजात को एनआईसीयू वार्ड में ले गया।

जब बाल रोग विभागाध्यक्ष प्रोफेसर व्यास कुमार राठौर द्वारा देखा गया कि माता-पिता के बजाय कोई अन्य बच्चे को वार्ड में ले जा रहा है तो प्रोफेसर को मामला संदिग्ध लगा। जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रोफेसर आरएस बिष्ट को दी। इसके साथ ही पुलिस चौकी में भी खबर कर दी गई। अगले दिन यानी 11 जुलाई को नवजात की मौत हो गई। वहीं बताया जा रहा है इस मामले में अब जांच कमेटी बनाकर पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है। आखिर प्रसूता युवती को डिस्चार्ज कैसे किया गया और बच्चा क्यों कर्मचारी के हवाले किया गया इसकी गहनता से जांच की जानी चाहिए।