अतिवृष्टि से जौनसार-बावर में मची तबाही, बेसिक स्कूल बिल्डिंग समेत कई छानियां और घराट बहे

0
237

देहरादून/विकासनगर, ब्यूरो। दो दिन से उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में हो रही भारी बारिश से यमुना घाटी और जौनसार बावर क्षेत्र में भारी तबाही मच रही है। देहरादून जनपद के जौनसार बावर क्षेत्र के कई गांव में बरसाती नाले और नदी किनारे बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। कहीं मलबा और बड़े-बड़े बोल्डर सड़क और घरों तक पहुंच गए हैं तो कहीं पेड़। कई घराट और छानियों के साथ ही एक गांव का प्राथमिक विद्यालय का भवन भी बारिश के बाद धराशाही हो गया है।

कई गांवों के लोग खतरे को देखते हुए सुरक्षित जगहों पर शरण लेने के मजबूर है। जौनसार बावर के साथ ही पूरी यमुनाघाटी में अतिवृष्टि से हाहाकार मचा हुआ है। आज तड़के जौनसार-बावर के मसराड़ गांव के साथ ही एक कई गांवों में अतिवृष्टि से गोदाम में रखा सस्ते गल्ले का राशन खराब हो गया है। कई घराट और आटा चक्की के साथ छानियां भी बरसाती गदेरों में बह गई हैं। इलाके में लोग डरे सहमे हुए हैं। जबकि पछवादून के लाइन जीवनगढ़ में कालिंदी अस्पताल के आस-पास कई घरों में बारिश का पानी भर गया है। वहीं, मौसम विभाग ने देहरादून और उत्तरकाशी में भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक बिक्रम सिंह ने उत्तरकाशी और देहरादून जनपद में आज भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। वहीं, उन्होंने प्रदेश के और जनपदों में भी बादल छाए रहने की संभावना जताई है।

ativrishti

दो दिन से हो रही मूसलाधार बारिश से पहाड़ से लेकर मैदान तक जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। जौनसार बावर के मसराड गांव में आज तड़के 5ः00 बजे अतिवृष्टि से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए। एक सरकारी गोदाम में रखा सस्ते गल्ले का राशन मलबे में खराब हो गया है। वहीं, कई घराट और छानियां भी बरसाती नालों में बह गई है। बादल फटने के बाद बड़े-बड़े पत्थर और मलबा सड़कों और गांव में घरों तक घुस गया है। मसराड गांव में मौजूद सरकारी स्कूल का भवन भी धराशाही हो गया। इसके साथ ही गांव के कई घरों को खतरा पैदा हो गया है। आपदा से डरे सहमे मसराड गांव के लोग सुरक्षित जगह पर इकट्ठा हो गए हैं। आपदा कंट्रोल रूम में इसकी सूचना दे दी गई है। दूसरी ओर कालसी चकराता मोटर मार्ग पर बादल फटने के बाद एक खोखा बह गया। किसी भी इंसान या मवेशी की फिलहाल हताहत होने या मलबे में बहने की सूचना नहीं है। इसके अलावा देहरादून, उत्तरकाशी और हिमाचल को जोड़ने वाला पुरोला-त्यूणी एनएच, चकराता-त्यूणी-मसूरी एनएच बंद पड़े हैं। देहरादून जनपद के विकासनगर के लाइन जीवनगढ़ में कालिंदी अस्पताल के पास कई घरों में जलभराव की सूचना है। इस तबाही के बीच मौसम विभाग ने देहरादून और उत्तरकाशी में भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक बिक्रम सिंह ने उत्तरकाशी और देहरादून जनपद में आज भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। वहीं, उन्होंने प्रदेश के और जनपदों में भी बादल छाए रहने की संभावना जताई है।