बेकाबू ट्रक ने डिवाइडर तोड़ते हुए दूसरी तरफ जा रही कार को रौंदा, एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत

0
141
बेकाबू ट्रक ने डिवाइडर तोड़ते हुए दूसरी तरफ जा रही कार को रौंदा, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

बेकाबू ट्रक ने डिवाइडर तोड़ते हुए दूसरी तरफ जा रही कार को रौंदा, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

  • हादसे का कारण ट्रक चालक को एक्सप्रेसवे पर चलते वक्त नींद की झपकी आना बताया जा रहा, दो लोग गंभीर घायल, सीएम योगी ने जताया दुःख

लखनऊ, ब्यूरो। वाहन चालकों की लापरवाही और नियम तोड़ने से आए दिन लगातार सड़क हादसे हो रहे हैं। अधिकतर सड़क हादसों में चालक किसी न किसी तरह जरूर जिम्मेदार होता है। ऐसा ही एक दर्दनाक हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर हुआ है। यहां हाईवे पर तेज रफ्तार दौड़ रहे ट्रक कंटेनर चालक को नींद की झपकी आ गई। इसके बाद बेकाबू हुए ट्रक ने डिवाइडर को तोड़ते हुए दूसरी तरफ जा रही एक कार को बुरी तरह रौंद दिया। इस दर्दनाक हादसे में एक ही परिवार के चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को उन्नाव के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। जबकि मृतकों 10 और 12 साल की दो मासूम बच्चियां भी शामिल हैं। हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे में मारे गए लोगों की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन के अधिकारियों को आदेश दिया है कि घायलों का बेहतर इलाज सुनिश्चित किया जाए।

बता दें कि आज रविवार को तड़के करीब साढ़े पांच बजे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर ट्रक चालक को नींद की झपकी आ गई इससे ट्रक बेकाबू होकर डिवाइडर तोड़ते हुए दूसरी तरफ से जा रही कार से जा भिड़ा। इस दर्दनाक सड़क हादसे में कार में सवार एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई। वहीं, इस दर्दनाक सड़क हादसे में घायल दो लोगों को उन्नाव के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के मुताबिक परिवार एक पारिवारिक कार्यक्रम में शामिल होने सीवान जा रहा था। पुलिस के मुताबिक हादसा उस समय हुआ जब कंटेनर चालक को नींद आने से कंटेनर ट्रक का संतुलन बिगड़ गया और वो डिवाइडर तोड़कर कार से जा भिड़ा। हसनगंज थाने के एसएचओ अखिलेश चंद्र पांडेय के मुताबिक मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

बेकाबू ट्रक ने डिवाइडर तोड़ते हुए दूसरी तरफ जा रही कार को रौंदा, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

इस संबंध में एसपी शशि शेखर ने बताया कि हादसा हसनगंज थाना इलाके में सुबह पांच-छह बजे के बीच हुआ है। हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने किसी तरह कार में सवार परिवार को गाड़ी से किसी तरह निकालकर लखनऊ के एक अस्पताल तक पहुंचाया। अस्पताल में डॉक्टरों ने अखिलेश मिश्रा (40), उनकी पत्नी बबीता मिश्रा (36), बेटी ज्योति मिश्रा (10) और भतीजी प्रियांशी (12) को मृत घोषित कर दिया। हादसे के बाद पूरे परिवार और उनके करीबियों और जानने वालों में शोक की लहर है। परिवार के अन्य सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल है।