इस तहसील ने नहीं जमा किया लाखों का बिजली बिल, UPCL ने बिना बताए काट दी सप्लाई

0
295

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की देहरादून तहसील ने मार्च 2021 से अभी तक बिजली का लाखों रुपये का भुगतान नहीं किया जिससे उत्तराखंड पावर काॅरपोरेशन (UPCL) की टीम ने देहरादून तहसील की ही बिजली सप्लाई काट दी। कुछ देर तक बिजली न आने पर कर्मचारियों और अफसरों ने इसे बिजली कटौती का हिस्सा मानते हुए नजरअंदाज किया। करीब दो घंटे बाद भी बिजली न आने पर कर्मचारियों ने अन्य कार्यालयों और दुकानों में बिजली होने का पता चला। आनन-फानन में तहसीलदार सदर ने उत्तराखंड पावर काॅरपोरेशन (UPCL) के एसडीओ को फोन किया। इसके बाद पता चला कि बिजली बिल जमा न होने पर काटी गई। जानकारी के अनुसार तहसील का एक साल से भी अधिक का बिजली का बिल पांच लाख से भी अधिक हो चुका है।

कई बार नोटिस भेजने के बाद भी तहसील प्रशासन ने बिजली का बिल जमा नहीं किया। वहीं, तहसीलदार सदर ने बताया कि ऊर्जा निगम के एसडीओ को फोन कर थोड़ी देर में बिजली जोड़ दी गई थी। उन्होंने बताया कि तहसील में कुछ कार्मिकों के तबादले होने के कारण बिजली के बिल का भुगतान नहीं हो पाया है। ऐसे में उन्होंने बिल जमा करने के लिए एक माह का समय मांगा है। करीब दो घंटे बाद बिजली वापस जोड़ी गई। बिजली न होने के कारण तहसील में इस दौरान कामकाज ठप रहा।

tahsil dehradun

इस तहसील ने नहीं जमा किया लाखों का बिजली बिल, ऊर्जा ने बिना बताए काट दी सप्लाई

बता दें कि देहरादून तहसील ने कई महीनों का करीब पांच लाख का बिजली का बिल जमा नहीं किया है। यह पांच लाख रुपये के करीब है। काफी दिनों से बिजली विभाग बिल देने के तहसील में पत्र भेजा रहा था। इसके बावजूद तहसील की तरफ से बिजली का बिल जमा नहीं कराया गया। बुधवार दोपहर बिजली विभाग की टीम तहसील परिसर पहुंची। यहां लाइन से जा रही तहसील की बिजली सप्लाई काट दी। लाइट जाने पर यहां के कर्मचारियों ने आसपास के कार्यालयों में पता किया तो वहां बिजली चालू थी। इसके बाद पता लगा कि तहसील की ही बिजली काट दी गई है। बिजली विभाग से संपर्क किया तो सूचना मिली कि बिल नहीं भरने पर यह कार्रवाई की गई। इसके बाद तहसीलदार सदर ने बिजली विभाग के एसडीओ को फोन किया। उन्होंने तहसील वापस बिजली जोड़ने को कहा। तब तहसील की बिजली चालू हो पाई। बिजली न होने से तहसील में दिनभर काम ठप रहा।