S Jaishankar: विदेश मंत्री ने दिया अमेरिका को मुह तोड़ जवाब

0
268
devbhoomi

नई दिल्ली ब्यूरो। एक वक्त वो था जब भारत अपने ही देश में अग्रेजों के शासन तले जी रहा था और एक आज का वक्त है जब अन्य देशों में भारत का एक अलग ही दबदबा है। अपनी दमदार छवी को लेकर भारत अन्य देशों में सुर्खियां बटोरने में किसी भी शक्तिशाली देश से कम नही है। आपको बता दें कि भारत से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर अमेरिका से 2+2 वार्ता के लिए सोमवार को वॉशिंगटन पहुंचे थे। जहां अमेरिका के कुछ शब्दों पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने सरल अंदाज में अमेरिका को ऐसा करारा जवाब दिया, जिस पर खुद अमेरिका ने भी चुप्पी साध ली।

इस 2+2 वार्ता में अमेरिका ने भारत के रूस से कच्चा तेल खरीदने पर आलोचना की जिसके बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अमेरिका के विदेश मंत्री एनटोनी ब्लिंकन के इस आलोचना का मूह तोड़ जवाब देते हुए कहा कि भारत रूस से जितना तेल महीने भर में खरीदता है उतना तेल तो यूरोप रूस से एक दोपहर में ही खरीद लेता है। इसके साथ ही एस जयशंकर ने अमेरिका के विदेश मंत्री को कहा कि अगर आप इस पर नजर बनाए हुए है कि भारत रूस से कितना कच्चा तेल खरीद रहा है तो मै आपको सुझाव देना चाहूगां कि अपना ध्यान यूरोपीय देशों की ओर केंद्रित करें। भारत के विदेश मंत्री के इस बयान को सुनने के बाद अमेरिका के विदेश मंत्री भी कुछ न बोल पाए। अब एस जयशंकर के इस करारे जवाब के बाद भारत में पक्ष से लेकर विपक्ष तक सभी उनकी तारीफ के पुल बांध रहे हैं।

दरअसल रूस यूक्रेन युद्ध के बाद भारत ने रूस से सस्ता कच्चा तेल खरीदना शुरु कर दिया जिससे सबसे ज्यादा नुकसान अमेरिका को हुआ। पहला नुकसान ये कि अमेरिका से कच्चे तेल की खरीद में गिरावट आई और दूसरा की अमेरिका का रूस पर दबदबा कम होने लगा। मगर जब यूरोपीय देशों द्वारा रूस से कच्चा तेल खरीदा जा रहा है तो इस पर अमेरिका चुप्पी साधे है, वजह है कि यूरोप अमेरिका के मित्र देशों में शामिल है।

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here