अब इस तरीके से लेगा भारत POK वापस !

0
241
devbhoomi

पाकिस्तान ऑक्युपाइड कश्मीर दो भागो मे विभाजित है, पाकिस्तान कंट्रोल्ड कश्मीर और गिलगित – बाल्तिस्तान. पाकिस्तान कंट्रोल्ड कश्मीर मे १० जिले हैं और इसकी राजधानी है मुज़फ़्फ़राबाद. गिलगित – बाल्तिस्तान पाकिस्तान कॉंटरोलेड कश्मीर से लगभग ५ गुना बड़ा है और 65 हज़ार वर्ग किलो मीटर मे फैला है. इसमे 3 अड्मिनिस्ट्रेटिव डिविषन और १० जिले हैं. पाकिस्तान कंट्रोल्ड कश्मीर को पाकिस्तान आज़ाद कश्मीर कहता है और गिलगित-बल्तिस्तान को उसने अपना प्रांत घोषित कर दिया है. ये यू. एन. रेज़ल्यूशन्स, कराची अग्रीमेंट और शिमला अग्रीमेंट का उल्लंघन करता है.

एक नज़र डालते हैं पी. ओ. के. की इंपॉर्टेन्स पर. पी. ओ. के. मे सॉफ पानी के बेशुमार श्रोत हैं. हाइड्रो-एलेक्ट्रिक उत्पादन की अपार संभावनाएँ हैं. मीरपुर और मुज़फ़्फ़राबाद मे तो सोना, कोयला, चॉक, ग्रॅफाइट और बॉक्साइट प्रचुर मात्रा मे उपलब्ध है. चीन पाकिस्तान एकनामिक कॉरिडोर यहीं से गुज़रता है जो की भारत की संप्रभुता पर एक बड़ा ख़तरा है. साथ ही गिलगित मध्य एशिया के दरवाजे की तरह है.

भारत सक्षम होने के बावज़ूद भी पाकिस्तान द्वारा किए गये इस अवैध कब्ज़े को वापस क्यों नही ले पा रहा इस के कारणों पर एक नज़र डालते हैं-
पहला – पी. ओ. के. तक भारत की तरफ से पहुँचना एक टेढ़ी खीर है, वजह ये बहुत उँची पहाड़ियों से घिरा है जबकि पाकिस्तान के लिए समान उँचाई पर होने की वजह से यहाँ पहुँचना बहुत आसान है.
दूसरा – भारत की पहले हमला ना करने की नीति. यदि पाकिस्तान हमला करता है तो भारत के लिए पी. ओ. के. को वापस लेने का ये मौका हो सकता है.
तीसरा – चीन की इस क्षेत्र मे उपस्तिथि. युद्ध की स्तिथि मे चीन के साथ भी युद्ध की संभावना है.

युद्ध के द्वारा पी. ओ. के. को वापस लेने के और क्या नुकसान हो सकते है ज़रा देखते हैं. वर्तमान मे भारत अपने बजट का लगभग ३५% डिफेन्स पर खर्च करता है, जिसका एक बड़ा हिस्सा जम्मू और कश्मीर मे चल रहे ऑपरेशन्स को जाता है. हमले की स्तिति मे ये खर्चा बहुत बढ़ जाएगा जिसका सीधा असर बाकी हिन्दुस्तान के विकास पर पड़ेगा. और विद्रोह इस क्षेत्र की प्रमुख समस्या है जिसका समाधान पहले करना होगा. आर्तिकल ३७० के समाप्त होने के बाद अब ये करना आसान है. अब कश्मीर का चौतरफ़ा विकास किया जा सकता है जिससे स्थानीय लोगो मे खुशहाली हो और अविश्वास की भावना समाप्त हो. और यही सबसे बड़ा हथियार भी है और बिना लड़े बड़ी आसानी से पी. ओ. के. खुद ही भारत मे आकर मिल जाएगा.

पूरी जानकारी  के लिये ऊपर दिये गये वीडियो पर क्लिक करे .

Follow us on our Facebook Page Here and Don’t forget to subscribe to our Youtube channel Here