अव्यवस्थाओं का केंद्र ने लिया संज्ञान, केदारनाथ में ITBP और NDRF तैनात

0
249

देहरादून (सौरभ बिष्ट): उत्तराखंड चार धाम यात्रा में हो रही अव्यवस्थाओं का संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार ने केदारनाथ यात्रा रूट पर एनडीआरएफ और आईटीबीपी की प्लाटून तैनात कर दी है। दो साल बाद सुचारू रूप से शुरू हुई उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा में रोज हजारों श्रद्धालु दर्शन के लिए उमड़ रहे हैं। ऐसे में केंद्र ने संज्ञान लिया है और आईटीबीपी और एनडीआएफ यहां तैनात करने के साथ सुरक्षा और व्यवस्था बनाने की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है।

उत्तराखंड में चल रही चार धाम यात्रा पर चारों धामों में मिलाकर तकरीबन 50000 लोग प्रत्येक दिन दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। 3 मई 2022 से शुरू हुई चारधाम यात्रा में अब तक 24 तीर्थ यात्रियों की मौत हो चुकी है। चार धाम यात्रा पर लगातार हो रही मौतों और यहां फैली अव्यवस्थाओं का केंद्र सरकार ने संज्ञान लिया है। ये अव्यवस्थाएं कहीं न कहीं राज्य सरकार की नाकामियों को साफ तौर से दिखा रहा है।

ss sandhu cs

गुरुवार को कैबिनेट बैठक के बाद कैबिनेट फैसले पर मीडिया को ब्रीफिंग करने आए मुख्य सचिव एसएस संधू ने चार धाम की व्यवस्थाओं पर जवाब देते हुए कहा कि चार धाम यात्रा में पहली दफा एनडीआरएफ के जवानों को तैनात किया जा रहा है। साथ ही मुख्य सचिव डाॅ. एसएस संधू ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो NDRF, ITBP और भारतीय सेना की Medical Team से भी मदद ली जायेगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि सभी जिलाधिकारियों से बातचीत के बाद व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश दिए गए हैं। धाम के दर्शन का समय भी बढ़ा दिया गया है। सबसे ज्यादा भीड़ और अव्यवस्थाएं केदारनाथ में ही देखने को मिल रही है। आईटीबीपी और एनडीआएफ की टुकड़ियों को गुप्तकाशी और सोनप्रयाग में भी तैनात किया गया है। केदारनाथ यात्रा मार्ग और मंदिर परिसर में कतार लगाकर लोगों को दर्शन करवाए जा रहे हैं। ऐसे में कई लोग धक्का-मुक्की भी कर रहे हैं। एक दिन पहले बदरीनाथ मंदिर के ही काउंटर से अज्ञात चोरों ने 92 हजार की नकदी पर हाथ साफ कर दिया था।

अव्यवस्थाओं का केंद्र ने लिया संज्ञान, केदारनाथ में ITBP और NDRF तैनात