देवभूमिः जून में भी हो रही बर्फबारी, हेमकुंड साहिब यात्रा पर ब्रेक; 7 हजार से ज्यादा यात्री रोके

0
203
hemkund sahib

देवभूमिः जून में भी हो रही बर्फबारी, हेमकुंड साहिब यात्रा पर ब्रेक; 7 हजार से ज्यादा यात्री रोके

चमोली, ब्यूरो। उत्तराखंड को यूं ही देवभूमि नहीं कहा जाता। जून की तपती गर्मी से हालांकि मैदान में भी एक दो दिन से राहत मिली है, लेकिन उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश के साथ ही बर्फबारी से तापमान में एकदम गिरावट आ गई। आज सोमवार को सिखों के प्रसिद्ध और पवित्र स्थल हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा में सुबह से ही बर्फबारी हो रही है। इससे हेमकुंड यात्रा पर फिलहाल विराम लगा दिया गया है। हेमकुंड यात्रा पर आए 7 हजार से अधिक यात्री जगह-जगह रोके गए हैं। इसके अलावा बदरीनाथ धाम के साथ ही केदारनाथ धाम और अन्य ऊंची चोटियों पर जमकर बर्फबारी हो रही है।

चमोली पुलिस की ओर से यात्रियों से अपील है कि अभी यात्रा न करें, मौसम साफ होने पर यात्रियों को हेमकुंडसाहिब की ओर भेजा जाएगा।  श्री हेमकुंड साहिब में जबरदस्त बर्फबारी हो रही है। अभी तक 1-2 फीट बर्फ गिर चुकी है। बर्फबारी के कारण हेमकुंड साहिब जाने वाले यात्रियों को गोविंदघाट और घांघरिया में रोक गया है। साथ ही ऋषिकेश, श्रीनगर, नगरासू गुरुद्वारे में रुके हुए यात्रियों से अपील है कृपया अभी यात्रा न करें। मौसम साफ होते ही तीर्थयात्रियों को हेमकुंड साहिब की तरफ भेजा जाएगा। चारधाम समेत अन्य जिलों में बारिश होने की संभावना है, जिससे तापमान में और गिरावट आ सकती है। यात्रा पर आ रहे तीर्थयात्रियों से अनुरोध है कृपया ऊनी कपड़े, छाता, रेनकोट, वाटरप्रूफ ट्रेकिंग शूज, चलने के लिए छड़ी, टोपी, दस्ताने आदि अपने साथ जरूर रखें।

hemkund sahib me barbbari

देवभूमिः जून में भी हो रही बर्फबारी, हेमकुंड साहिब यात्रा पर ब्रेक; 7 हजार से ज्यादा यात्री रोके

बता दें कि मानसून की दस्तक से पहले ही उत्तराखंड की ऊंचाई वाले इलाकों में जून में भी बर्फबारी हो रही है। सुबह से हो रही बर्फबारी से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा प्रबंधक सेवा सिंह का कहना है कि बर्फबारी रूकने के बाद यात्रा फिर से शुरू कर दी जाएगी। बर्फबारी को देखते हुए घांघरिया और गोविंदघाट में करीब 7500 तीर्थयात्री रोके गए हैं। तीर्थयात्रियों की सुरक्षा और व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह निर्णय लिया गया है। आपको बता दें कि पूर्व में ही राज्य मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की गई थी और चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को सवाधान रहने की हिदायत दी गई थी। मौसम विभाग का पूर्वानुमान एक बार फिर सही साबित हुआ है।

hemkund sahib हेमकुंड